S M L

India vs America, women's hockey world cup 2018: डिफेंस के दम पर अपनी उम्‍मीदों को बचाने की कोशिश में भारतीय टीम

इंग्लैंड के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ, आयरलैंड के खिलाफ 0-1 की हार से भारतीय टीम पूल बी अंक तालिका में तीसरे स्थान पर काबिज है

FP Staff Updated On: Jul 28, 2018 07:43 PM IST

0
India vs America, women's hockey world cup 2018: डिफेंस के दम पर अपनी उम्‍मीदों को बचाने की कोशिश में भारतीय टीम

निचली रैंकिंग वाली आयरलैंड से उलटफेर की शिकार भारतीय महिला हॉकी टीम को विश्व कप में नॉकआउट राउंड में पहुंचने की अपनी उम्‍मीदों को अगर बरकरार रखना है तो उसे रविवार को होने वाले पूल बी के मुकाबले में अमेरिका से कम से कम ड्रॉ की जरूरत है. दुनिया की दूसरे नंबर की टीम इंग्लैंड के खिलाफ शुरुआती बढ़त हासिल करने के बावजूद पहले मैच ड्राॅ खेलने वाली रानी रामपाल की आगुवाई वाली भारतीय टीम को दूसरे राउंड रॉबिन मैच में आयरलैंड से 0-1 से निराशाजनक हार का मुंह देखना पड़ा  था, जिससे उसकी सीधे क्वार्टरफाइनल में प्रवेश की संभावना काफी कम हो गई. अंतिम 8 के लिए चार टीमें पूल में शीर्ष स्‍थान पर रहने वाली सीधे ही क्‍वालिफाई कर लेती हैं, जबकि बचे हुए चार स्थान क्रॉस-ओवर चरण से भरे जाएंगे.

भारतीय टीम गोल अंतर से आगे 

अपने-अपने पूल में दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाली टीमें क्रॉस-ओवर चरण में एक दूसरे से भिड़ेंगी. इंग्लैंड के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ, आयरलैंड के खिलाफ 0-1 की हार से भारतीय टीम पूल बी अंक तालिका में तीसरे स्थान पर काबिज है. अमेरिका ने भी इंग्लैंड से ड्रॉ खेला है और उसे भी आयरलैंड से 1-3 से हार मिली. हालांकि दोनों टीमों के एक एक अंक हैं, लेकिन भारतीय टीम गोल अंतर में आगे है.

आयरलैंड के खिलाफ मौके को भुना नहीं पाई थी भारतीय टीम

भारत को इंग्लैंड के खिलाफ कोई भी पेनल्टी कार्नर नहीं मिला, लेकिन आयरलैंड के खिलाफ उसे सात बार मौका मिला, लेकिन टीम इसमें से किसी को भी गोल में नहीं बदल सकी. हालांकि रानी एंड कंपनी रविवार को इस मुकाबले में वही गलतियां दोहराना नहीं चाहेगी. मुख्‍य कोच शोर्ड मारिन ने कहा कि टीम का संयोजन और रणनीति अच्छी है, जिससे हमने सर्कल में कई मौके बनाए, लेकिन इन मौकों को गोल में नहीं बदल सके, जो हमारे लिए महंगा साबित हुआ.

डिफेंस भारत का मजबूत पक्ष

हालांकि इस विश्‍व कप में भारत का सबसे मजबूत पक्ष उसका डिफेंस है, जिसके दम पर वह इस विश्‍व कप में अपनी पहली जीत की तलाश कर रही है. मजबूत डिफेंस के कारण ही उसने पिछले दो मैचों में सिर्फ दो गोल ही खाए हैं. लेकिन भारत के इस डिफेंस को फारवर्ड और मिडफील्‍ड लाइन से कोई सहयोग नहीं मिल पा रहा. जिस वजह से पिछले मैच में भारत को मिले कई मौको को बर्बाद करने के कारण टीम आज मुश्किल में पड़ गई हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi