S M L

भारत बनाम श्रीलंका, तीसरा टेस्ट :  जीत से बस सात विकेट दूर टीम इंडिया !

410 रन के लक्ष्य के जवाब में श्रीलंका 31 रन पर तीन विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही है

FP Staff Updated On: Dec 06, 2017 09:00 AM IST

0
भारत बनाम श्रीलंका, तीसरा टेस्ट :  जीत से बस सात विकेट दूर टीम इंडिया !

तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच के चौथे दिन के खेल के बाद श्रीलंकाई खिलाड़ियों के चेहरे पर पराजय की छाया साफ देखी जा सकती थी. मंगलवार को भारत ने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 410 रन का रिकॉर्ड लक्ष्य रखा जिसके जवाब में मेहमान टीम स्टंप तक 31 रन पर तीन विकेट पर गंवाकर संघर्ष कर रही थी. श्रीलंकाई टीम को जीत के लिए अब भी 379 रन, जबकि भारत को सात विकेट की दरकार है. पहली पारी में एंजेलो मैथ्यूज- दिनेश चंडीमल जैसी बड़ी साझेदारी ही श्रीलंका को इस संभावित हार से बचा सकती है. लेकिन भारतीय गेंदबाजों के अंतिम सत्र के प्रदर्शन को देखते हुए ये काम उनके लिए एवरेस्ट पर चढ़ने से कम नहीं होगा.

श्रीलंका ने दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाजों सदीरा समरविक्रम (05) और दिमुथ करूणारत्ने (13) के अलावा नाइटवॉचमैन सुरंगा लकमल (00) के विकेट गंवाए. समरविक्रम का मोहम्मद शमी (1/8) की गेंद पर स्लिप में अजिंक्य रहाणे ने आसान कैच लपका, जबकि करूणारत्ने ने रवींद्र जडेजा (2/5) की गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच थमाया. जडेजा ने इसके बाद लकमल को भी बोल्ड किया. खराब रोशनी के कारण दिन का खेल 13 ओवर पहले खत्म किए जाने पर धनंजय डिसिल्वा 13 रन बनाकर खेल रहे थे, जबकि एंजेलो मैथ्यूज उनका साथ निभा रहे हैं, जिन्होंने अभी खाता नहीं खोला है.

चौथी पारी में नहीं बने हैं 364 से ज्यादा रन

फिरोजशाह कोटला पर कोई टीम कभी चौथी पारी में 364 से ज्यादा रन नहीं बना पाई है. भारत ने दिसंबर 1979 में पाकिस्तान के खिलाफ छह विकेट पर 364 रन बनाए थे और यह मैच ड्रॉ छूटा था. इस मैदान पर सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का रिकॉर्ड भारत और वेस्टइंडीज के नाम दर्ज है. भारत और वेस्टइंडीज ने एक दूसरे के खिलाफ 276 रन के लक्ष्य को हासिल करते हुए समान पांच विकेट पर 276 रन बनाकर पांच-पांच विकेट से जीत दर्ज की थी. वेस्टइंडीज ने नवंबर 1987, जबकि भारत ने नवंबर 2011 में यह लक्ष्य हासिल किया था.

भारत की दूसरी पारी में तीन अर्धशतक

पहली पारी में 163 रन की बढ़त हासिल करने वाले भारत ने अपना 32वां जन्मदिन मना रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (67), कप्तान विराट कोहली (50), रोहित शर्मा (नाबाद 50) और चेतेश्वर पुजारा (49) की उम्दा बल्लेबाजी से दूसरी पारी पांच विकेट पर 246 रन बनाकर घोषित की.

373 रन पर सिमटी श्रीलंका की पहली पारी

सुबह श्रीलंका की टीम पहली पारी में 373 रन पर सिमट गई. श्रीलंका की तरफ से कप्तान दिनेश चंडीमल ने करियर की सर्वश्रेष्ठ 164 रन की पारी खेली. श्रीलंका ने दिन की शुरुआत नौ विकेट पर 356 रन से की और सुबह 5.3 ओवर में 17 रन जोड़कर चंडीमल के रूप में अपना अंतिम विकेट भी गंवा दिया. सुबह सभी रन चंडीमल के बल्ले से निकले. चंडीमल ने अपने करियर में चौथी बार 150 रन के आंकड़े को छुआ. उन्होंने 162 रन के अपने पिछले सर्वश्रेष्ठ स्कोर को पार किया जो उन्होंने अगस्त 2015 में गॉल में भारत के खिलाफ ही बनाया था. चंडीमल इशांत की गेंद को थर्ड मैन पर खेलने की कोशिश में धवन को आसान कैच दे बैठे. उन्होंने 361 गेंद की अपनी पारी में 21 चौके और एक छक्का जड़ा. लक्षण संदाकन बिना कोई रन बनाए नाबाद रहे. भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन (3/90) और इशांत शर्मा (3/98) ने तीन-तीन, जबकि मोहम्मद शमी (2/85) और रवींद्र जडेजा (2/86) ने दो-दो विकेट चटकाए.

खराब शुरुआत से उबरे मेजबान

दूसरी पारी में भारत की शुरुआत खराब रही. मुरली विजय (09) ने सुरंगा लकमल के पारी के पहले ओवर में लगातार दो चौके जड़े, लेकिन इस तेज गेंदबाज के अगले ओवर में ऑफ साइड से बाहर की गेंद से छेड़छाड़ की कोशिश में विकेटकीपर निरोशन डिकवेला को कैच दे बैठे. खराब फॉर्म से जूझ रहे रहाणे को टीम प्रबंधन ने तीसरे नंबर पर भेजा, लेकिन वह सिर्फ 10 रन बनाने के बाद ऑफ स्पिनर दिलरूवान परेरा की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग ऑन पर लक्षण संदाकन को कैच दे बैठे. मौजूदा सीरीज में वह 4, 0, 2, 1 और 10 रन की पारियां खेलकर सिर्फ 17 रन बना पाए.

धवन और पुजारा ने इसके बाद स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. बेहतरीन लय में दिख रहे पुजारा कामचलाऊ स्पिनर धनंजय डिसिल्वा की गेंद पर स्लिप में मैथ्यूज को कैच दे बैठे जिससे धवन के साथ उनकी 77 रन की साझेदारी का अंत हुआ. उन्होंने 66 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके जड़े.

धवन के टेस्ट क्रिकेट में 2000 रन

धवन ने लकमल पर दो चौकों के बाद संदाकन की गेंद पर एक रन के साथ 83 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया और फिर एक गेंद बाद छक्के के साथ टेस्ट क्रिकेट में 2000 रन पूरे किए. वह इस पारी के दौरान प्रथम श्रेणी क्रिकेट में आठ हजार रन पूरे करने में भी सफल रहे. धवन ने डिसिल्वा पर लगातार दो चौके लगाए, लेकिन संदाकन की गेंद का आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में चूक गए और डिकवेला ने उन्हें स्टंप कर दिया.

कोहली- रोहित की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी

कोहली और रोहित ने इसके बाद तेजी से रन बटोरे. कोहली ने लकमल पर चौके के साथ 45वें ओवर तक भारत का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया. भारतीय कप्तान ने संदाकन की गेंद पर एक रन के साथ 55 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. वह हालांकि अगले ओवर में गमागे की गेंद पर लांग ऑन पर लकमल का कैच दे बैठे. उन्होंने 58 गेंद की पारी में तीन चौके जड़े और रोहित के साथ 90 रन की साझेदारी की. रोहित ने गमागे की गेंद पर दो रन के साथ 49 गेंद में मैच का लगातार दूसरा अर्धशतक पूरा किया. जिसके बाद कोहली ने पारी घोषित कर दी। रोहित ने अपनी पारी में पांच चौके लगाए. रवींद्र जडेजा चार रन बनाकर नाबाद रहे.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi