S M L

इंडिया ओपन बैडमिंटन: 2015 की जीत दोहराना चाहेंगे सायना, श्रीकांत

मंगलवार से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में कैरोलिना मरीन और सिंधु की चुनौती भी मजबूत

IANS Updated On: Mar 27, 2017 09:41 PM IST

0
इंडिया ओपन बैडमिंटन: 2015 की जीत दोहराना चाहेंगे सायना, श्रीकांत

भारत के दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत मंगलवार से शुरू हो रहे इंडिया ओपन में 2015 में हासिल की गई खिताबी जीत को दोहराने के इरादे से उतरेंगे. 2015 में हुए इंडिया ओपन में सायना ने महिला एकल वर्ग और श्रीकांत ने पुरुष एकल वर्ग का खिताब जीता था.

दोनों दिग्गजों के अलावा इंडिया ओपन में पदार्पण कर रहीं ओलिंपिक पदक विजेता पी.वी. सिंधु से भी देश को पदक की उम्मीद होगी. सायना और सिंधु के लिए हालांकि टूर्नामेंट चुनौतीपूर्ण होगा. पदक हासिल करने के लिए उन्हें दूसरी विश्व वरीयता प्राप्त कोरिया की सुंग जी ह्यून, ओलिंपिक चैंपियन स्पेन की कैरोलिना मरीन, तीसरी विश्व वरीयता प्राप्त जापान की अकाने यामागुची और थाइलैंड की धुरंधर खिलाड़ी रातचानोक इंतानोन जैसी विश्व स्तरीय खिलाड़ियों की चुनौती से पार पाना होगा.

हाल ही में ऑल इंग्लैंड ओपन की उप-विजेता रातचानोक शानदार फॉर्म में हैं. लेकिन ऑल इंग्लैंड ओपन विजेता सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त चीनी ताइपे की ताई जु यिंग की कमी जरूर खलेगी. इंडिया ओपन में 2010 और 2015 में दो बार खिताब जीत चुकीं सायना बीते वर्ष रियो ओलम्पिक के बाद से ही चोट और खराब फॉर्म से जूझ रही हैं. घरेलू दर्शकों के सामने उनके पास वापसी करने का अच्छा अवसर होगा.

टूर्नामेंट के महिला एकल वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली अन्य खिलाड़ियों में ऋतुपर्णा दास, पी.सी. तुलसी, तन्वी लाड, अरुंधती पंटावने, रेशमा कार्तिक और श्रीकृष्ण प्रिया कुदरावल्ली शामिल हैं.

वहीं पुरुष एकल वर्ग में किदांबी श्रीकांत के लिए 2015 में मिली टूर्नामेंट की खिताबी जीत को दोहराने का अच्छा अवसर है. इस साल चोट से उबरने के बाद उन्होंने सैयद मोदी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट और दक्षिण एशियाई खेलों में अच्छा प्रदर्शन किया था. हालांकि, विश्व के शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी और तीन बार (2011, 2013, 2014) इंडिया ओपन अपने नाम करने वाले मलेशिया के ली चोंग वेई की मौजूदगी में उनके लिए इस लक्ष्य को हासिल करना आसान नहीं होगा.

श्रीकांत के अलावा इस टूर्नामेंट में विश्व रैंकिंग में शीर्ष 10 खिलाड़ियों की सूची में शामिल डेनमार्क के जैन ओ जोर्गेनसेन, उनके हमवतन विक्टर एक्सेलसेन, कोरिया के सुन वान हो, चीन के तियान होवेई, चीनी ताइपे के चोउ तियेन चेन और हांगकांग के ना का लोग एंगस भी प्रतिस्पर्धा करेंगे.

पुरुष एकल वर्ग के मुख्य ड्रॉ में श्रीकांत के साथ बी. साई प्रणीत, समीर वर्मा, सौरभ वर्मा, अजय जयराम और एच. एस. प्रणॉय भी भारत की ओर से चुनौती पेश करेंगे. टूर्नामेंट के पुरुष युगल वर्ग के मुख्य ड्रॉ में भारत की ओर से मनु अत्री-बी. सुमित रेड्डी, केतन चहल-तनवीर गिल, सात्विक सईराज रंकिरेड्डी-चिराग शेट्टी, एम. अनिल कुमार राजु-वेंकट गौरव प्रसाद, फ्रांसिस एल्विन-तरुण कोना, एम.आर. अर्जुन-रामचंद्रन श्लोक की जोड़ियां उतरेंगी.

महिला युगल वर्ग में अश्विनी पोनप्पा-एन.सिक्की रेड्डी भारत की मुख्य दावेदार हैं, जबकि मिश्रित युगल वर्ग में प्रणव जेरी चोपड़ा-एन. सिक्की रेड्डी की सातवीं वरीय जोड़ी से सर्वाधिक उम्मीदें रहेंगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi