S M L

अगर पाकिस्तानी रेसलर्स को वीजा नहीं दिया तो भारत से छिन सकती है इस बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी

17 जुलाई से भारत में शुरू हो रही एशियन जूनियर रेसलिंग चैंपियनशिप के लिए अभी तक नहीं दी है गृह मंत्रालय ने मंजूरी

Updated On: Jul 10, 2018 05:12 PM IST

FP Staff

0
अगर पाकिस्तानी रेसलर्स को वीजा नहीं दिया तो भारत से छिन सकती है इस बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी

भारत के किसी बड़े इंटरनेशनल टूर्नामेंट का आयोजन हो और पाकिसतान के खिलाड़ियों की भागीदारी का मसला सुर्खियो में ना आए ऐसा हो नहीं सकता. अब इंडियन रेसलिंग फेडरेशन ने कहा है कि पाकिस्तानी दल को वीजा नहीं दिये जाने की दशा में उसे आगामी एशियाई जूनियर चैंपियनशिप की मेजबानी से वंचित होना पड़ सकता है.

डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने बताया कि अभी उन्हें टूर्नामेंट के आयोजन के लिये गृह मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिली है चूंकि पाकिस्तानी रेसलर्सकी भागीदारी को लेकर तस्वीर स्पष्ट नहीं है.

उन्होंने कहा,‘ हमें मंजूरी नहीं मिली है. मैने को गृहमंत्री से मुलाकात का समय मांगा है. पाकिस्तानी दल को वीजा नहीं मिलता है तो यूडब्ल्यूडब्लयू हम पर प्रतिबंध लगा सकता है और हमसे मेजबानी छिन सकती है. पाकिस्तान को इस टूर्नामेंट में भाग लेने का हक है.’

उन्होंने कहा कि उन्होंने चार महीने पहले मंजूरी लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी लेकिन कुछ अधिकारी मामले की गंभीरता को समझ नहीं रहे हैं.

उन्होंने कहा,‘आम तौर पर यह प्रक्रिया टूर्नामेंट से दो महीने पहले शुरू होती है लेकिन हमने चार महीने पहले शुरू कीच. कुछ अधिकारी हालांकि समझ नहीं रहे हैं कि मामला कितना गंभीर है. युनाइटेड विश्व कुश्ती हमारे खिलाफ कार्रवाई कर सकती है. हम पर प्रतिबंध लग सकता है जिससे हम ओलिंपिक नहीं खेल सकेंगे.’ उन्होंने कहा कि 17 जुलाई से शुरू हो रहे टूर्नामेंट के लिये पाकिस्तान की सिर्फ लड़कों की टीम आएगी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi