S M L

डोपिंग में फंसे एथलीट जितिन पॉल ने लगाया नाडा पर साजिश का आरोप

कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में देश का प्रनिधित्व कर चुके जितिन पॉल के कमरे से प्रतिबंधित मेलडोनियम मिलने के बाद नाडा ने लगाई है चार साल की पाबंदी

Updated On: Feb 23, 2018 10:39 PM IST

FP Staff

0
डोपिंग में फंसे एथलीट जितिन पॉल ने लगाया नाडा पर साजिश का आरोप

डोपिंग के जाल में फंसे भारत के एथलीट ने इस अपने खिलाफ साजिश का दावा करके हुए इसे खिलाफ अपील करने की बात कही है. पाबंद दवा मेलडोनियम रखने का दोषी पाये जाने के कारण चार साल के लिये निलंबित किये गये भारत के 400 मीटर दौड़ के धावक जितिन पॉल ने दावा किया है कि उन्हें फंसाया गया है और वह सजा के खिलाफ अपील करेंगे.

पॉल 4x400 मीटर की रिले टीम में कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स जैसे बड़े खेल आयोजनों में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. वह भारतीय एथलीटों में पहले हैं जिन्हें मेलडोनियम रखने के कारण डोपिंग रोधी अनुशासन पैनल ने प्रतिबंधित किया है.

पॉल ने कहा हा ‘मैं जल्द ही डोपिंग रोधी अपील पैनल में अपील दायर करूंगा. फैसला सुनाए जाने के बाद हमें 21 दिन का समय मिलता है.’

यह प्रतिबंधित दवा पिछले साल 17 अप्रैल को एनआईएस पटियाला में कुछ कोचों और एथलीटों के हॉस्टल के कमरों की औचक जांच के दौरान पॉल के कमरे में पाई गई थी.

केरल के इस 27 वर्षीय एथलीट ने हालांकि दावा किया कि नाडा ने मामला गढ़ा है क्योंकि उनके पास ऐसा कोई पदार्थ नहीं था जिसमें मेलडोनियम हो.

उन्होंने कहा, ‘नाडा ने मुझे फंसाया है. मेरे कमरे से केवल कार्निटाइन इंजेक्शन पाये गये थे और मैंने इसे स्वीकार किया है. यह दवा (मेलडोनियम) मेरे कमरे से नहीं पायी गयी. मुझे केवल 22 मई को इस बारे में पता चला जब मुझे अस्थायी निलंबित किया गया.’

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi