S M L

एशियन गेम्‍स के लिए सीमित जोखिम उठाने को तैयार प्रणॉय

कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में सेमीफाइनल और ब्रॉन्‍ज मेडल प्ले ऑफ दोनों ही मैचों में उन्हें तीन गेम तक जूझने के बाद हार का सामना करना पड़ा था

Updated On: Jul 22, 2018 04:51 PM IST

Bhasha

0
एशियन गेम्‍स के लिए सीमित जोखिम उठाने को तैयार प्रणॉय

उतार चढ़ाव भरे पिछले सत्र के बाद एचएस प्रणॉय ने कहा है कि वह दिल तोड़ने वाली हार के बाद नकारात्मकता से दूर रहना चाहते हैं और अब उनकी नजरें आने वाले विश्‍व चैंपियनशिप और एशियाई खेलों में अच्छे नतीजों के लिए सीमित जोखिम उठाने पर टिकी हैं. मौजूदा सत्र में इस 26 वर्षीय खिलाड़ी ने कुछ तीन गेम तक चले रोमांचक मुकाबले खेले हैं. गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में सेमीफाइनल और ब्रॉन्‍ज मेडल प्ले ऑफ दोनों ही मैचों में उन्हें तीन गेम तक जूझने के बाद हार का सामना करना पड़ा था .

प्रणॉय ने कहा कि उन्‍होंने इन अहम मुकाबलों में शिकस्त के बारे में सोचना बंद कर दिया है क्योंकि इससे काफी नकारात्मकता आती है और अब उनका पूरा ध्यान संपूर्ण खेल पर है जहां उन्‍हें अपने शॉट खेलने होंगे, सीमित जोखिम उठाना होगा और पीछे नहीं हटना होगा. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि जब आप हारते हैं तो लोग ध्यान देते हैं , जब आप जोखिम लेकर जीत दर्ज करते हैं वे इस पर ध्यान नहीं देते. एबीसी (एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप) एक ऐसा टूर्नामेंट है जहां यह मेरे पक्ष में रहा और मैंने पदक जीता. लेकिन मुझे लगता है कि आपको प्रयास जारी रखना होता है.

एबीसी में ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने के दौरान भी प्रणॉय ने कई तीन गेम के मैच खेले और इस दौरान प्री क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे के वैंग जू वेई और क्वार्टर फाइनल में दुनिया के पूर्व दूसरे नंबर के खिलाड़ी कोरिया के सोन वान हो को क्वार्टर फाइनल में हराया. प्रणय को अब 30 जुलाई से नानजिंग विश्व चैंपियनशिप में हिस्सा लेना है और वह ड्रॉ से खुश हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi