S M L

हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स: बेल्जियम से होगी क्वार्टर फाइनल में भारत की टक्कर

रियो ओलिंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट है बेल्जियम की टीम, टूर्नामेंट में जीत चुकी है सभी मुकाबले,बेल्जियम के नाम सबसे ज्यादा 11 गोल

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Dec 05, 2017 10:01 PM IST

0
हॉकी वर्ल्ड लीग फाइनल्स:  बेल्जियम से होगी क्वार्टर फाइनल में भारत की टक्कर

भुवनेश्वर में खेली जा रहे हॉकी वर्ल्ड लीग के क्वार्ट फाइनल मुकाबलों की तस्वीर साफ हो गई है. पूल स्टेज के मुकाबलों में मंगलवार को आखिरी दिन था. मंगलवार को ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट बेल्जियम ने नैदरलैंड्स को 3-0 से मात देकर पूल ए में टॉप पर फिनिश किया जबकि ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अर्जेंटीना की टीम स्पेन के हाथों 1-2 से मात खा बैठी.

इसके साथ यह भी तय हो गया है कि मेजबान भारत का मुकाबला ग्रुप ए में टॉप पर रहने वाली बेल्जियम की टीम के साथ होगा. भारत की टीम अब नॉकआउट राउंड में बुधवार को शाम 7:30  बजे बेल्जियम के साथ भिड़ेगी. इससे पहले शाम 5:15 बजे स्पेन की टक्कर वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के साथ होगी.

गुरुवार को आखिरी दो क्वार्टर फाइनल्स में इंग्लैंड की टीम अर्जेंटीना के साथ और स्पेन की टीम जर्मनी के साथ खेलेगी.

बेल्जियम के खिलाफ मुकाबला भारत के लिए आसान नहीं रहने वाला है.  रैंकिंग में बेल्जियम तीसरे स्थान पर है जबकि भारत छठे पायदान पर है.  पूल स्टेज में भारतीय टीम एक भी जीत हासिल नहीं कर सकी है जबकि बेल्जियम की टीम ने अपने तीनों मुकाबलों में जीत दर्ज करके जबरदस्त खेल का मुजाहिरा किया है.

बेल्जियम ने इस टूर्नामेंट में अबतक सबसे ज्यादा कुल 11 गोल दागे हैं जबकि उसके खिलाफ बस दो गोल ही हुए हैं. इस मामले में उसके बराबर बस जर्मनी ही है. जर्मनी के खिलाफ भी टूर्नामेंट में बस दो गोल ही हुए हैं.

भारत ने इस टूर्नामेंट की शुरूआत जोरदार तरीके से की थी. वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत ने पहले गोल दागकर बढ़त बनाई थी. लेकिन उसके बाद लचर डिफेंस के चलते ऑस्ट्रेलिया की टीम को बराबरी करने का मौका मिल गया था. इस पूरे टूर्नार्मेंट में बस वही एक मैच था जिसमें टीम इंडिया विरोधी टीम पर हावी होती दिखी थी.

इसके बार इग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम आखिरी क्वार्टर के कुछ वक्त को छोड़कर पूरी कर ऑफकलर रही. डिफेंस में कई गलतिया हुईं जो भारी भी पड़ी. वहीं मिडफील्ड गेंद पर कब्जा बरकरार रखना भारत के लिए बड़ी चुनौती साबित हुआ.

Odisha Men's Hockey World League Final Bhubaneswar 2017 Match id:10 India v Germany Foto: Ferdinand Weinke (Ger) and Sunil Sowmarpet (Ind)  COPYRIGHT WORLDSPORTPICS

.

इसके बाद अपने आखिरी पूल मुकाबले में जर्मनी के खिलाफ भी भारतीय टीम अपनी लय को तलाशती ही नजर आई. टीम के खेल में निरंतरता का पूर्णत: अभाव दिखा. आधे मौके को भुनाकर उसे गोल में तब्दील करने के जज्बे और हुनर का अभाव  भारतीय टीम में  साफ दिखाई दे रहा है. जर्मन टीम की के सामने भी भारतीय खिलाड़ी, खासतौर के मिडफील्ड में गेंद पर कब्जे को बरकरार रखने में सघर्ष करते रहे

बहरहाल हर मुकाबला एक नया मुकाबला होता है. नए कोच की अगुआई में भारतीय टीम अगर अपनी कमजोरियों से निजात पाने में कामयाब रही तो फिर हमें एक रोमांचक क्वार्टरफाइनल देखने को मिल सकता है. भारतीय टीम को यह साबित करना होगा कि वह एशियन चैंपियन और विश्व स्तर की हॉकी के बीच के फासले को पाटने का माद्दा रखती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi