S M L

आखिरकार मौत से हार गए तीन ओलिंपिक मेडल और जंग में वीर चक्र जीतने वाले हरिपाल कौशिक

84 साल के लेफ्टिनेंट कर्नल(रिटायर्ड) हरिपाल कौशिक ओलिंपिक में दो गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम के उपकप्तान थे

FP Staff Updated On: Jan 26, 2018 09:09 PM IST

0
आखिरकार मौत से हार गए तीन ओलिंपिक मेडल और जंग में वीर चक्र जीतने वाले हरिपाल कौशिक

भारत को ओलिंपिक में दो गोल्ड मेडल और एक सिल्वर मेडल दिलाने वाली टीम के उपकप्तान रहे लेफ्टिनेंट कर्नल(रिटायर्ड) हरिपाल कौशिक का निधन हो गया है. जालंधर में गुरुवार रात को उन्होंने अंतिम सांस ली.

अगली दो फरवरी को ही 85 साल के होने वाले हरिपाल कौशिक साल 2015 से डिमेंशिया से पीड़ित से और उनकी बीमारी लास्ट स्टेज पर थी. उनकी एक बेटी है और उनकी पत्नी कई साल पहले ही गुजर चुकी थीं.

हरिपाल कौशिक उस भारतीय हॉकी टीम के सदस्य थे जिसे अपराजित माना जाता था. इस टीम ने 1956 और 1964 के ओलिंपिक में गोल्ड मेडल और 1960 के ओलिंपिक में सिल्वर मेडल जीता था.

अपने बेहतरीन खेल की बदौैलत उन्हें नेशनल और सेना के स्तर पर कई बार सम्मानित किया गया

 

हरिपाल कौशिक खेल के मैदान में एक खिलाड़ी के तौर पर तो बेहतरीन एथलीट थे ही साथ बतौर फौजी भी उन्होंने जंग के मैदान में अपनी वीरता दिखाई थी. 1959 में 1, सिख रेजीमेंट में भर्ती हए हरिपाल कौशिक ने 1962 के भारत-चीन युद्ध में हिस्सा लिया था और उनकी बहादुरी के लिए उन्हें सेना के वीर चक्र से भी सम्मानित किया गया था.

समाचार पत्र ट्रिब्यून से बात करते हुए उनकी बेटी वेरोनिका ने बताया वह एक फाइटर थे अपनी बीमारी से भी फाइटर की तरह ही अंतिम सांस तक लड़े.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi