S M L

FRENCH OPEN 2018: दर्द और डर को हराकर नडाल ने जीता 17वां ग्रैंडस्लैम

तीसरे सेट में बाईं कलाई पर नडाल को टक्‍कर लगी. जिसके बाद वह डर भी गए थे और इसी वजह से फॉल्‍ट सर्विस करवा दी

Updated On: Jun 11, 2018 08:52 AM IST

Kiran Singh

0
FRENCH OPEN 2018: दर्द और डर को हराकर नडाल ने जीता 17वां ग्रैंडस्लैम

साल की शुरुआत रोजर फेडरर ने की, अपने खराब दौर से निकलते हुए, संन्‍यास जैसी खबरों को सुनते हुए फेडरर ने इसी साल ऑस्‍ट्रेलियन ओपन जीता. ट्रॉफी हाथ में लेते समय वो इतने भावुक हो गए थे कि अपनी भावनाओं को शब्‍द नहीं दे पाए. भले ही सबको लेजेंड फेडरर की जीत आसान लग रही थी, लेकिन उनके लिए उस खिताब को जीतना कितना अहम था, सिर्फ वो ही जानते थे. खिताब जीतकर उन्‍होंने एक बात तो साफ कर दी थी कि उम्र और तमाम चोट और अपने खराब दौर को भी पीछे सिर्फ अपने खेल से ही छोड़ा जा सकता है.

बिल्‍कुल सही था और उनकी इस बात को अब राफेल नडाल ने पुख्‍ता भी कर दिया है. युवा खिलाड़ी डोमिनिक थीम को हराकर 11वीं बार फ्रेंच ओपन जीतकर उन्‍होंने एक बात और लोगों को बता दी कि भले ही पिछले कुछ समय से वह चोट आदि चीजों से जूझ रहे थे, भले ही बाकी ग्रैंड स्‍लैम में वह अपनी पुरानी लय हासिल नहीं कर पा रहे, लेकिन लाल बजरी के बादशाह तो सिर्फ वो ही है और यहां पर अपनी इस बादशाहत को ऐसे ही जाने नहीं देंगे. फिर चाहे यहांं  तीसरे सेट में कलाई में लगी चोट हो या फिर उसके बाद का डर हो

Tennis - French Open - Roland Garros, Paris, France - June 10, 2018 Spain's Rafael Nadal celebrates with the trophy after winning the final against Austria's Dominic Thiem REUTERS/Benoit Tessier - RC1BC9463D00

अगर फाइनल में पहुंचे हैं तो चैंपियन बनकर वापस आएंगे. तभी तो ट्रॉफी हाथ में लेने के बाद उन्‍होंने उसे अपने सीने से चिपकाए रखा और इस बार तो वह अपने जज्‍बात पर भी काबू नहीं रख पाए और शायद वह खुशी के ही आंसू थे, जो नडाल के ट्रॉफी हाथ में उठाने के बाद निकले. नडाल के नाम एक रिकॉर्ड ये भी है कि वह जितनी बार भी रोलां गैरों के फाइनल में उतरे है, हमेशा ही विजेता बनकर आए हैं और थीम को 6-4, 6-3, 6-2 से हराकर एक और रिकॉर्ड को वह कायम रखने में सफल हुए और वह है फाइनल में सीधे सेटों में जीत.

26 साल बाद फ्रेंच ओपन को मिला नंबर वन चैंपियन

राफेल नडाल और सिमोना हालेप ने मैन्‍स और वीमंस का खिताब अपने नाम किया और 26 में ऐसा पहली बार हुआ है जब दुनिया के शीर्ष खिलाड़ी दोनों वर्ग में चैंपियन बने. इससे पहले 1992 में जिम कूरियर और मोनिसा सेल्‍स ने बतौर शीर्ष खिलाड़ी इस खिताब को अपने नाम किया था. गौरतलब है कि हालेप ने शनिवार को 10 वरीयता प्राप्‍ता स्‍लोएन स्‍टीफंस को हराकर अपने करियर का पहला ग्रैंड स्‍लैम खिताब जीता था. क्ले कोर्ट के दिग्गज खिलाड़ी नडाल की रोलां गैरो पर यह 86वीं जीत है जबकि इस दौरान उन्हें सिर्फ दो बार हार का सामना करना पड़ा. गत चैंपियन नडाल का रोलां गैरो पर यह 11वां और करियर का 17वां ग्रैंडस्लैम खिताब है. स्पेन के इस खिलाड़ी ने किसी एक ग्रैंड स्लैम में सर्वाधिक खिताब के मारग्रेट कोर्ट के रिकार्ड की भी बराबरी कर ली. मारग्रेट ने 1960 से 1973 के बीच ऑस्‍ट्रेलियन ओपन में यह उपलब्धि हासिल की थी. क्ले कोर्ट पर यह नडाल और थिएम का 10वां मुकाबला था जिसमें स्पेन के खिलाड़ी ने सातवीं जीत दर्ज की.  नडाल अब सर्वाधिक ग्रैंडस्लैम के मामले में अपने प्रतिद्वंद्वी रोजर फेडरर से तीन मेजर खिताब पीछे हैं जिनके नाम पर 20 ग्रैंडस्लैम खिताब दर्ज हैं.

तीसरे सेट में दर्द से हुए परेशान

Tennis - French Open - Roland Garros, Paris, France - June 10, 2018 Spain's Rafael Nadal receives treatment during the final against Austria's Dominic Thiem REUTERS/Pascal Rossignol - RC118DBF8A70

तीसरे सेट में दो बार नडाल को मेडिकल टीम की मदद लेनी पड़ी. बाईं कलाई पर नडाल को टक्‍कर लगी, उसके बाद फिजियो ने जल्‍दी से मसाज करके दर्द को कम करने की कोशिश की. नडाल ने कहा कि उस हल्‍की सी टक्‍कर के बाद वह थोड़ा डर भी गए थे और इसी वजह से वापस लौटने पर उन्‍होंने फॉल्‍ट  सर्विस करवा दी.

अनुभव और अनुभवहीन का अंतर पहले सेट में ही दिखा

जहां नडाल के नाम 17 ग्रैंड स्‍लैम खिताब है, वहीं थीम अपने पहले ग्रैंड स्‍लैम की तलाश में उतरे थे. यहीं नहीं वह अपने करियर में पहली बार किसी ग्रैंड स्‍लैम के फाइनल में पहुंचे थे. 24वां  ग्रैंडस्‍लैम फाइनल खेल रहे नडाल और पहला ग्रैंड स्‍लैम खेल रहे थीम के बीच अनुभव का अंतर पहले सेट के शुरुआत में ही दिखने लगा. शुरुआती दो गेम में थीम ने पांच असहज गलतियां कर डाली और नडाल ने शुरुआती दोनों गेम अपने नाम कर लिए. तीसरे गेम में थीम ने अनुभवी खिलाड़ी के साथ एक मैराथन रैली खेलकर अपना पहला गेम जीता, जिससे उनका उत्‍साह बढ़ा और इसके बाद उन्होंने नडाल को एक-एक अंक के लिए चुनौतियां दी. जल्‍द ही उन्‍होंने स्‍कोर 3-3 से बराबर कर दिया और इसके बाद नडाल को बढ़त हासिल करने के लिए संघर्ष करना पड़ा. सातवां गेम नडाल ने जीतकर बढ़त बनाई तो अगला गेम थीम ने जीतरक एक बार स्‍कोर 4-4 से बराबर कर दिया. हालांकि शीर्ष खिलाड़ी ने अपने दोनों गेम जीतकर सेट अपने नाम कर लिया. नडाल को इस सेट को जीतने में 61 मिनट का समय लगा.

Tennis - French Open - Roland Garros, Paris, France - June 10, 2018 Austria's Dominic Thiem reacts during the final against Spain's Rafael Nadal REUTERS/Gonzalo Fuentes - RC16ED3A5080

दूसरे सेट में दिखने लगा था दबाव

पहला सेट गंवाने का दबाव थीम पर दूसरे सेट में साफतौर पर दिखने लगा था और उन्‍होंने शुरुआती तीन गेम आसानी से गंवा दिए. तीन गेम में पिछड़ने के बाद चौथा गेम थीम ने जीता. लेकिन नडाल के नेट पॉइन्‍ट से अंक जोड़कर स्‍कोर 5-2 किया और उन्‍हें सेट जीतने के लिए बस एक गेम की जरूरत थी, लेकिन अगला गेम थीम ने जीतकर उनका इंतजार बढ़ा दिया था. दूसरे सेट में भले ही थीम ने तीन एस और नडाल के 6 के मुकाबले 14 विनर्स लगाए, लेकिन उनकी गलतियां उन पर अधिक हावी रही. इस सेट में उन्‍होंने नडाल की 7 असहज गलतियों के मुकाबले 12 गलतियां की, वहीं एक डबल फॉल्‍ट किया.

चैंपियनशिप पॉइन्‍ट के लिए नडाल को करना पड़ा संघर्ष

नडाल ने भले ही 6-2 से आसानी से तीसरा सेट जीत लिया हो, लेकिन चैंपियनशिप पॉइन्‍ट के लिए उन्‍हें संघर्ष करना पड़ा. सेट का पहला गेम थीम ने और दूसरा गेम नडाल ने जीता. इसके बाद लगातर दो गेम और जीतकर स्‍कोर 3-1 किया और अगला गेम थीम ने जीतकर स्‍कोर 4-2 किया. नडाल को खिताब के लिए दो गेम की जरूरत थी. उन्‍होंने अपना पांचवां गेम जीत लिया और अपने छठें गेम में 40-0 की बढ़त हासिल की, लेकिन थीम ने जल्‍द ही स्‍कोर बराबर कर ड्यूस करवा दिया. यहां भी उन्‍हें चैंपियनशिप पॉइन्‍ट के लिए दो बार ड्यूस खेलना पड़ा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi