S M L

फ्रेंच ओपन 2018: जोकोविच और ज्वेरेव को जीत के लिए बहाना बढ़ा पसीना, दिमित्रोव उलटफेर के शिकार

जोकोविच ने कड़े मुकाबले में रोबर्टो बतिस्ता आगुत को तीन घंटे और 48 मिनट में और ज्वेरेव ने जुमहुर को चार घंटे चले मुकाबले में 6-2, 3-6, 4-6, 7-6, 7-5 से हराया

FP Staff Updated On: Jun 01, 2018 11:03 PM IST

0
फ्रेंच ओपन 2018: जोकोविच और ज्वेरेव को जीत के लिए बहाना बढ़ा पसीना, दिमित्रोव उलटफेर के शिकार

दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच और जर्मनी के दूसरे वरीय एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने कड़े मुकाबलों में जीत के साथ फ्रेंच ओपन के पुरुष एकल प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है. पूर्व चैंपियन जोकोविच ने कड़े मुकाबले में रोबर्टो बतिस्ता आगुत को तीन घंटे और 48 मिनट में 6-4, 6-7, 7-6, 6-2 से हराया. कोहनी की चोट से वापसी करने के बाद सर्वश्रेष्ठ फार्म के लिए जूझ रहे जोकोविच क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए 35वें नंबर के खिलाड़ी फर्नांडो वर्दास्को से भिड़ेंगे.

वर्दास्‍को ने किया उलटफेर

फर्नांडो वर्दास्को ने उलटफेर करते हुए चौथे वरीय बुल्गारिया के ग्रिगोर दिमित्रोव को 7-6, 6-2, 6-4 से हराकर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया. वर्दास्को ने सातवीं बार फ्रेंच ओपन के चौथे दौर में जगह बनाई है, लेकिन यह एकमात्र ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट है जिसमें वह कभी क्वार्टर फाइनल में जगह नहीं बना पाए हैं. दो बार ग्रैंडस्लैम के सेमीफाइनल में जगह बनाने वाले दिमित्रोव आठ प्रयास में कभी भी रोलां गैरो में दूसरे हफ्ते के खेल का हिस्सा नहीं रहे.

पहली बार फ्रेंच ओपन के चौथे दौर में पहुंचे ज्‍वेरेव

दूसरी तरफ ज्वेरेव ने पांच सेट तक चले कड़े मुकाबले में मैच प्वाइंट बचाने के बाद बोस्निया के दामिर जुमहुर को हराकर पहली बार फ्रेंच ओपन के चौथे दौर में जगह बनाई. 21 वर्षीय ज्वेरेव ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए जुमहुर को लगभग चार घंटे चले मुकाबले में 6-2, 3-6, 4-6, 7-6, 7-5 से हराया.

Paris: Germany's Alexander Zverev serves against Bosnia and Herzegovina's Damir Dzumhur during their third round match of the French Open tennis tournament at the Roland Garros stadium in Paris, France, Friday, June 1, 2018. AP/PTI(AP6_1_2018_000085B)

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल के 11वें फ्रेंच ओपन खिताब की राह में सबसे बड़ी चुनौती माने जा रहे ज्वेरेव जुमहुर के खिलाफ लय में नहीं दिखे. उन्होंने 73 सहज गलतियां करने के अलावा सात डबल फॉल्‍ट करते हुए आठ बार अपनी सर्विस गंवाई. पांचवें और निर्णायक सेट के 11वें गेम में उन्होंने मैच प्वाइंट बचाने के बाद विरोधी की सर्विस तोड़ी और फिर अगले गेम में अपनी सर्विस बचाते हुए पहली बार अंतिम 16 में जगह बनाई.  जापान के 19वें वरीय केई निशिकोरी ने भी फ्रांस के जाइल्स सिमोन को सीधे सेटों में 6-3, 6-1, 6-3 से कराकर अतिम 16 में प्रवेश किया.

खिताब बचाव करने उमतरे बोपन्‍ना और बाबोस की जोड़ी बाहर

भारत के लिए फ्रेंच ओपन में शुक्रवार का दिन काफी निराशाजनक रहा जब युकी भांबरी , दिविज शरण और रोहन बोपन्ना विभिन्न वर्गों में हार के साथ इस क्ले कोर्ट ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट से बाहर हो गए. सबसे पहले युकी और शरण की जोड़ी पुरुष युगल में कोर्ट पर उतरी, लेकिन ओलिवर मराच और मेट पाविच की जोड़ी को दूसरे दौर में 7-5, 6-3 से जीत दर्ज करने से नहीं रोक पाई. अपने करियर में पहली बार फ्रेंच ओपन में खेल रहे युकी इससे पहले एकल में भी हार गए थे, जिससे टूर्नामेंट में उनकी चुनौती समाप्त हो गई.

शरण इसके बाद जापान की शुको ओयामा के साथ मिश्रित युगल मुकाबले के लिए कोर्ट पर उतरे लेकिन पहले सेट जीतने के बावजूद यह जोड़ी पहले दौर के मुकाबले में कैटरीना सरेबोटनिक और सेंटियागो गोंजालेज के खिलाफ 6-2, 3-6 5-10 की जीत के साथ प्रतियोगिता से बाहर हो गई. मिश्रित युगल खिताब का बचाव करने उतरे बोपन्ना और उनकी जोड़ीदार टीमिया बाबोस को भी जान पीयर्स और शुआई झांग के खिलाफ एकतरफा मुकाबले में 2-6, 3-6 की हार का सामना करना पड़ा. बोपन्ना ने पिछले साल कनाडा की गैबिएला दाब्रोवस्की के साथ मिलकर अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीता था.बोपन्ना की चुनौती हालांकि पुरुष युगल में बरकरार है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi