S M L

15 साल की उम्र में हो गए थे ग्रेजुएट, लेकिन अपने खेल में जल्दबाजी में नहीं करते हैं मुकुंद

इक्कीस साल के मुकुंद को क्वालिफाइंग मुकाबले के लिए हाल में भारतीय टीम में रिजर्व सदस्य के रूप में रखा गया है

Updated On: Jan 02, 2019 10:08 PM IST

Bhasha

0
15 साल की उम्र में हो गए थे ग्रेजुएट, लेकिन अपने खेल में जल्दबाजी में नहीं करते हैं मुकुंद

भारतीय डेविस कप टीम के नये सदस्य शशि कुमार मुकुंद को टेनिस सर्किट पर खुद को साबित करने की कोई जल्दी नहीं है, भले ही वह 15 साल की उम्र में ग्रैजुएट हो गए हों. उन्हें इटली के खिलाफ कोलकाता में एक और दो फरवरी को होने वाले विश्व ग्रुप क्वालिफाइंग मुकाबले के लिए हाल में भारतीय टीम में रिजर्व सदस्य के रूप में रखा गया है. उन्होंने 2018 सत्र की शुरूआत 400 से बाहर रैंकिंग से की और अंत तक 295वें स्थान पर रहे. एआईटीए चयन समिति ने उन्हें इसका पुरस्कार टीम में चुनकर दिया.

इक्कीस वर्षीय मुकुंद इस बात में भरोसा रखते हैं कि सही दिशा में कड़ी मेहनत करने पर ही सफलता मिलती है. उन्होंने दस साल की उम्र में ही दसवीं की परीक्षा पास कर ली थी और फिर जब वह 15 साल के हुए तो उन्होंने बीबीए की डिग्री हासिल कर ली थी. मुकुंद ने पीटीआई से कहा ‘मेरे पापा ने यह फैसला किया था ताकि मैं बाद में पढ़ाई के दबाव में नहीं आऊं.’

टेनिस कोर्ट पर खेलने के बारे में उन्होंने कहा, ‘अगर आप अपना शत प्रतिशत देते हो तो नतीजे आएंगे ही. मैं यह अपने अनुभव से कह रहा हूं. मैंने 10 चैलेंजर्स गंवाए और नतीजे तब आने शुरू हुए जब मैंने इनके नतीजों की परवाह नहीं की. मैंने 21 साल की उम्र तक यही सीखा.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi