S M L

पहली बार भारतीय रेसलिंग में होगी अमेरिका और ईरान कोचों की एंट्री

ईरान के मशूहर कोच हुसैन करीमी समेत तीन विदेशी कोच अंडर 23 वर्ल्ड चैंपियनशिप से पहले होंगे भारत के साथ

Updated On: Sep 23, 2018 03:41 PM IST

FP Staff

0
पहली बार भारतीय रेसलिंग में होगी अमेरिका और ईरान कोचों की एंट्री

वर्ल्ड लेवल पर भारत के रेसलर्स ने अब तक ज्यादातर देसी कोचों की देखरेख में ही धमाकेदार प्रदर्शन किया है लेकिन अब भारतीय रेसलर्स को विदेशी कोचों की ट्रेनिंग भी मिलने जा रही है. भारतीय रेसलिंग फेडरेशन ने तीन विदेशी कोचों के साथ करार किया है. एशियाई पावरहाउस ईरान के हुसैन करीमी उन तीन विदेशी कोचों में शामिल हैं जिनसे एक साल के लिए करार किया गया है. हुसैन के अलावा अमेरिका के एंड्रयू कुक और जार्जिया के टेमो कजाराशविली भारतीय रेसलिंग के साथ जुड़ेंगे.

भारतीय खेल प्राधिकरण यानी साई ने बुधवार को पुरूष फ्रीस्टाइल रेसलर्स के लिये हुसैन की नियुक्ति को मंजूरी दे दी दी है.  कुक महिला पहलवानों के साथ जबकि  कजाराशविली मेंस वर्ग के ग्रीको रोमन पहलवानों को कोचिंग देंगे.डब्ल्यूएफआई रूस के फानिर्व इरबेक वालेनटिनोविच को महिला कोच रखने का इच्छुक था लेकिन तब तक नौकरशाही बाधाएं दूर होतीं तब तक उन्हें दूसरा अनुबंध मिल गया. तीन विदेशी कोचों के लिये पहला टूर्नामेंट अंडर-23 विश्व चैंपियनशिप होगी जिसका आयोजन 12 से 18 नवंबर के बुकारेस्ट में किया जाएगा.

डब्ल्यूएफआई के सहायक सचिव विनोद तोमर ने कहा, ‘यह पहली बार है जब हमें ईरान और अमेरिका से कोच मिले हैं. ईरान कभी भी भारत को कोच नहीं देना चाहता लेकिन बीते समय में दोनों महासंघ के बीच रिश्ते सुधरे हैं इसलिये हम करीमी को लाने में सफल रहे.’ मौजूदा नेशनल कोच कैंपों के दौरान रेसलर्स के साथअपनी कोचिंग जारी रखेंगे.

(with Agency Input)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi