S M L

FIH World Cup: क्यों है पाकिस्तान के इस महान कप्तान को खुद के हॉकी खिलाड़ी होने का मलाल!

पाकिस्तान को वर्ल्ड कप और ओलिंपिक गोल्ड दिलाने वाले हसन सरदार आखिर क्यों इतने हताश हो गए हैं!

Updated On: Dec 05, 2018 12:07 PM IST

Bhasha

0
FIH World Cup: क्यों है पाकिस्तान के इस महान कप्तान को खुद के हॉकी खिलाड़ी होने का मलाल!

एक जमाने में दिग्गज रही पाकिस्तान हॉकी टीम अब अपना वजूद बनाए रखने के लिए जूझ रही है और ओलिंपिक चैंपियन पूर्व कप्तान हसन सरदार ने कहा कि खेल की मौजूदा दशा देखते हुए क्रिकेट खेलना बेहतर होता.

पाकिस्तान की 1982 विश्व कप और 1984 ओलिंपिक गोल्ड मेडल विजेता टीम के सदस्य रहे सरदार ने कहा कि क्रिकेट के बढ़ते कद और पीएचएफ के गैर पेशेवर रवैये के कारण पाकिस्तान में हॉकी धीरे धीरे खत्म हो रही है.

सरदार ने कहा, ‘पाकिस्तान में अब कोई हॉकी संस्कृति नहीं बची है. अब लोग क्रिकेट को ज्यादा पसंद करते हैं और देखते हैं. मुझे लगता है कि यदि मैं अभी बच्चा होता और हॉकी में अच्छा होता तो भी मैं क्रिकेट खेलना पसंद करता.’

विश्व कप खेल रही पाकिस्तानी टीम के मैनेजर सरदार ने कहा कि पाकिस्तानी हॉकी में पिछले कुछ अर्से से नायक नहीं निकले हैं. उन्होंने कहा, ‘अब बच्चे नायक तलाशते हैं. उन्हें रोल मॉडल चाहिए जो हॉकी में पिछले कुछ अर्से से नहीं मिले हैं.’

तीन बार ओलिंपिक और चार बार विश्व कप जीत चुकी पाकिस्तान के इस हश्र के लिए सरदार ने पाकिस्तान हॉकी महासंघ को दोषी ठहराया. उन्होंने कहा,‘हमारा महासंघ कई समस्याओं से जूझ रहा है. महासंघ के साथ समस्या होने पर असर खिलाड़ियों और कोचों पर पड़ता है. हमने कोच रोलंट ओल्टमंस को भी इसी के चलते खो दिया.

उन्होंने कहा ,‘अगर हमारा प्रदर्शन बेहतर होगा तो लोग दुनिया में कहीं भी हमारा खेल देखने आएंगे. हमें तटस्थ जगहों पर खेलने से भी गुरेज नहीं है. हम भारत में भी खेलने को तैयार है, अगर वे पाकिस्तान नहीं आना चाहते तो हम तटस्थ स्थान पर भी खेल सकते हैं.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi