Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

दुबई सुपर सीरीज फाइनल्स :  सिंधु और श्रीकांत की नजरें पहले खिताब पर

दोनों भारतीय शटलरों का पहला मुकाबला धुरंधरों से, नहीं होगी तनिक भी कोताही बरतने की गुंजाइश

Bhasha Updated On: Dec 12, 2017 08:09 PM IST

0
दुबई सुपर सीरीज फाइनल्स :  सिंधु और श्रीकांत की नजरें पहले खिताब पर

ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधु और किदांबी श्रीकांत बुधवार से शुरू हो रहे दुबई सुपर सीरीज फाइनल्स में उतरेंगे तो उनका लक्ष्य भारतीय बैडमिंटन के लिए बेहतरीन रहे इस साल का अंत भी खिताब के साथ करने का होगा. इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में महिला और पुरुष वर्ग में दुनिया के शीर्ष आठ खिलाड़ी ही भाग लेते हैं.

दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी सिंधु और चौथी रैंकिंग वाले श्रीकांत अपने अभियान का आगाज क्रमश: चीन की हि बिंगजियाओ और दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन के खिलाफ करेंगे तो तनिक भी कोताही बरतने की गुंजाइश नहीं होगी.

सिंधू और श्रीकांत ने इस साल कामयाबी की नई बुलंदियों को छुआ है. सिंधू ने इंडिया ओपन और कोरिया ओपन जीतने के अलावा ग्लास्गो विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीता और पिछले महीने हांगकांग ओपन में उपविजेता रहीं.

दूसरी ओर श्रीकांत एक ही कैलेंडर वर्ष में चार सुपर सीरीज खिताब जीतने वाले भारत के अकेले और दुनिया के चौथे खिलाड़ी बने. उन्होंने इंडोनेशिया ओपन, ऑस्ट्रेलिया ओपन, डेनमार्क ओपन और फ्रेंच ओपन जीता, जबकि जांघ की मांसपेशी में खिंचाव के कारण चाइना ओपन और हांगकांग ओपन नहीं खेल सके. एक महीने के ब्रेक में उन्होंने फिटनेस और तकनीक पर काफी काम किया और उन्हें उम्मीद है कि दोबारा वही लय हासिल कर लेंगे.

उन्होंने कहा, ‘यह महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है जिसमें 2014 में मैंने सेमीफाइनल खेला, लेकिन 2015 में लीग चरण से बाहर हो गया था. इससे फर्क नहीं पड़ता. हमें हार को भुलाकर आगे बढ़ना होता है. उम्मीद है कि इस साल प्रदर्शन अच्छा होगा.’ श्रीकांत को पुरुष एकल ग्रुप बी में एक्सेलसन के अलावा चोउ तियेन चेन और शि युकी के साथ रखा गया है.

पिछली बार सेमीफाइनल तक पहुंची सिंधु के ग्रुप में बिंगजियाओ के अलावा दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी जापान की अकाने यामागुची और सायाको सातो हैं. सिंधु ने कहा, ‘ मेरे लिए यह साल अच्छा रहा और उम्मीद है कि इसका अंत भी अच्छा होगा. यहां जीतना आसान नहीं है और पहले ही दौर से मुकाबले काफी कठिन होंगे. मुझे शुरू ही से अच्छा खेलना होगा.’

दोनों ग्रुप में चार खिलाड़ी एक दूसरे से खेलेंगे और शीर्ष दो सेमीफाइनल में जाएंगे. श्रीकांत ने अक्टूबर में एक्सेलसन को डेनमार्क ओपन के क्वार्टर फाइनल में हराया था. वहीं, सिंधु ने सितंबर में बिंगजियाओ को कोरिया ओपन में मात दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi