S M L

कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले अरुणा के पदक से जिमनास्टिक्स टीम का बढ़ेगा हौसला: दीपा कर्माकर

भारतीय ओलिंपिक संघ के एक इवेंट में हिस्सा लेने दिल्ली आई दीपा ने फर्स्टपोस्ट से खास बातचीत में कहा कि अब देश में जिमनास्टिक्स बदल रही है

Kiran Singh Updated On: Mar 21, 2018 02:06 PM IST

0
कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले अरुणा के पदक से जिमनास्टिक्स टीम का बढ़ेगा हौसला: दीपा कर्माकर

चोट के चलते गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स से दूर भारत की स्टार जिमनास्ट दीपा कर्माकर का मानना है कि अब दुनिया के मानचित्र पर भारतीय जिमनास्ट भी दिखने लगे हैं. दीपा भले ही रियो ओलिंपिक में पदक जीतने से चूक गई हों, लेकिन भारतीय जिमनास्टिक्स की पहचान बन चुकी दीपा का मानना है कि पिछले कुछ सालों में देश में जिमनास्टिक्स काफी बदल गई है. भारतीय ओलिंपिक संघ के एक इवेंट में हिस्सा लेने दिल्ली आई दीपा ने  फर्स्टपोस्ट से खास बातचीत में कहा कि अब देश में जिमनास्टिक्स बदल रही है और अरुणा रेड्डी ने वर्ल्ड कप में पदक जीतकर सभी को गौरवान्वित किया है और अब हमारी उम्मीद अधिक बढ़ गई है. गौरतलब है कि अरुणा  ने हाल में हुए जिमनास्टिक्स वर्ल्ड  कप में कांस्य पदक जीता और वह वर्ल्ड  कप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय जिमनास्ट भी बन गई हैं.

दीपा ने अपनी रूम पार्टनर और करीबी दोस्त अरुणा की इस उपलब्धि पर खुशी जताते हुए कहा 2011 में जब अरुणा नंदी सर के साथ नेशनल कैम्प में थी और 2014 से 2017 तक हम दोेनों ने एक साथ ट्रेनिंग की और हम एक ही कमरे में रहते थे. वो अक्सर मुझसे कहती थी कि वह बहुत मेहनत कर रही है, लेकिन कोई परिणाम नहीं मिल रहा और मैं अक्सर उससे कहती थी कि एक दिन वह जरूर मेडल जीतेगी और मुझे उम्मीद है कि गोल्ड कोस्ट में वह गोल्ड मेडल जीतेगी.

कॉमनवेल्थ गेम्स से एक महीने पहले भारत को जिमनास्टिक्स में पदक मिलने से गोल्ड कोस्ट जा रही हमारी टीम का हौसला बढ़ गया है और टीम वहां अच्छा प्रदर्शन करेगी. दीपा ने कहा कि मैं जिमनास्टिक्स की तरफ से बोल रही हूं कि अरुणा रेड्डी और प्रणति नायक फाइनल तक पहुंचें और ज्यादा से ज्यादा पदक जीतें.

अपनी घुटनों की सर्जरी के बारे में स्टार जिमनास्ट ने कहा कि वह सिर्फ 10 दिन तक ही बेड पर थी और उसके बाद तो उन्होंने चलना फिरना शुरू कर दिया था. हालांकि मैंने अभी तक वापस प्रैक्टिस शुरू नहीं की, लेकिन जल्द ही करने वाली हूं और अभी मैं कुछ और काम कर रही हूं. चोट के कारण कॉमनवेल्थ में तो नहीं जा सकती, लेकिन एशियन चैंपियनशिप अब मेरा लक्ष्य है. 2020 टोक्यो ओलिंपिक की अपनी योजना के बारे में बताते हुए दीपा ने कहा कि जो कमी रियो में रह गई थी, उसे टोक्यो ओलिंपिक से पहले दूर करके पदक जीतने का लक्ष्य है. वैसे उससे पहले ओलिंपिक क्वालीफेशन अगले साल से शुरू हो जाएंगे. ऐसे में हमारी कोशिश रहेगी कि शुरुआत में विश्व चैंपियनशिप में ही टोक्यो ओलिंपिक के लिए अपनी टिकट बुक कर लें, जिसकी वजह से तैयारियों के लिए और अधिक समय मिल जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi