S M L

Davis Cup: भारत को नहीं मिली एक भी जीत, सर्बिया से 0-4 से हारा

श्रीराम बालाजी चौथे मैच में सीधे सेटों में हार गए,  दोनों टीमों ने पांचवां मैच नहीं खेलने पर सहमति जताई

Updated On: Sep 16, 2018 09:13 PM IST

Bhasha

0
Davis Cup: भारत को नहीं मिली एक भी जीत, सर्बिया से 0-4 से हारा

एन श्रीराम बालाजी रविवार को क्रालजेवो में पेद्जा क्रस्टिन से चौथे मैच में सीधे सेटों में हार मिली जिससे भारतीय टीम डेविस विश्व ग्रुप प्ले-ऑफ मुकाबले में सर्बिया के खिलाफ एक भी जीत दर्ज किए बिना 0-4 से हार गई.

मेजबान टीम ने 3-0 की अजेय बढ़त बनाकर यह मुकाबला पहले ही अपने नाम कर लिया था जिससे चौथे मैच के नतीजे से कोई फर्क नहीं पड़ता इसलिए भारत ने रामकुमार रामनाथन की जगह बालाजी को उतारा. सर्बिया ने भी दुसान लाजोविच की जगह क्रस्टिन को उतारा.

डबल्स पर ज्यादा ध्यान लगाने वाले बालाजी क्रालजेवो स्पोर्ट्स स्थल पर इंडोर क्ले कोर्ट में 66 मिनट में 3-6 1-6 से हार गए. दोनों टीमों ने पांचवां मैच नहीं खेलने पर सहमति जताई.

बालाजी ने कहा, ‘यह मेरे लिए खराब मैच नहीं था. हर सर्विस गेम में मैंने गेम प्वाइंट हासिल किया, लेकिन उन्हें अंक में नहीं बदल सका. यहां तक कि ज्यादातर रिटर्न करीबी थे. स्कोरलाइन आसान दिखती है, लेकिन हमारा गेम लंबा रहा.’

पांच भिड़ंत में चार मुकाबले गंवाए

भारत ने इससे सर्बिया से पांच भिड़ंत में चार मुकाबले गंवा दिए हैं जिसे उसने 1927 में हराया था तब देश का नाम यूगोस्लाविया था. सर्बिया के लिए मौजूदा यूएस ओपन चैंपियन नोवाक जोकोविच ने नहीं खेलने का फैसला किया था और फिलिप क्राजिनोविच चोट के कारण हट गए थे, लेकिन भारत इसका फायदा नहीं उठा सका.

एशिया-ओसनिया ग्रुप में वापस नहीं होगी!

डेविस कप के नए नियमों के अनुसार भारत तुरंत ही एशिया-ओसनिया ग्रुप में वापस नहीं जाएगा. इसके बजाय भारत 18 टीमों के डेविस कप फाइनल्स (अगले साल 18 से 24 नवंबर तक मैड्रिड या लिली में होने वाले) के लिए क्वालिफाई करने की मुहिम के अंतर्गत फरवरी 2019 में 24 टीम के क्वालिफाई टूर्नामेंट (घरेलू और विदेशी मैदान के प्रारूप) में भाग लेगा. बारह विजेता क्वालिफाई करेंगे, जबकि 2018 सत्र से सेमीफाइनल में पहुंची चार टीमें सीधे प्रवेश करेंगी. आईटीएफ शुरूआती डेविस कप फाइनल्स के लिए दो वाइल्ड कार्ड प्रदान करेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi