S M L

डेविस कप टेनिस: रिवर्स सिंगल्स में रामकुमार जीते, प्रज्ञेश हारे

भारत ने एशिया ओशिनिया ग्रुप एक मुकाबले में उज्बेकिस्तान को 4-1 से हराया

Bhasha Updated On: Apr 09, 2017 08:12 PM IST

0
डेविस कप टेनिस: रिवर्स सिंगल्स में रामकुमार जीते, प्रज्ञेश हारे

भारतीय टीम क्लीन स्वीप नहीं कर सकी. लेकिन उसने उज्बेकिस्तान पर दबदबा बनाते हुए एशिया ओशिनिया ग्रुप एक डेविस कप मुकाबले में 4-1 की जीत के साथ विश्व ग्रुप प्ले ऑफ में जगह बनाई.

शनिवार को डबल्स मुकाबले में जीत से 3-0 की बढ़त के साथ ही भारत ने सितंबर में होने वाले विश्व ग्रुप प्ले ऑफ के लिए क्वालिफाई कर लिया था. टीम की नजरें क्लीन स्वीप पर टिकी थीं. लेकिन दूसरे उलट एकल में शिकस्त के कारण ऐसा नहीं हो पाया.

रामकुमार रामनाथन ने पहले रिवर्स सिंगल्स में सिर्फ 67 मिनट में सन्यार फाजियेव को 6-3, 6-2 से हराकर बेंगलुरु के केएसएलटीए स्टेडियम में भारत का दबदबा बरकरार रखा. लेकिन बाएं हाथ के खिलाड़ी प्रज्ञेश गुणेश्वरन के खिलाफ दुनिया के 406वें नंबर के खिलाड़ी तैमूर इस्माइलोव ने हालात का बेहतर फायदा उठाते हुए दूसरे उलट एकल में 7-5 6-3 की जीत के साथ भारत को क्लीनस्वीप से वंचित किया.

भारत ने पिछली बार डेविस कप मुकाबले में फरवरी 2014 में क्लीन स्वीप किया था जब उसने इंदौर में चीनी ताइपे को एकतरफा मुकाबले में हराया था.

भारत के दोनों खिलाड़ियों ने शानदार सर्विस की. लेकिन पदार्पण कर रहे प्रज्ञेश अहम लम्हों में दबाव में आ गए और मैच में नतीजे पर इसका बड़ा असर पड़ा. भारत के नए कप्तान महेश भूपति के लिए हालांकि शुरूआत काफी अच्छी रही.

फाजियेव को कोर्ट के उछाल और गति से सामंजस्य बैठाने में जूझना पड़ा जबकि रामकुमार ने इसका फायदा उठाया. उन्होंने लगातार उछाल लेती सर्विस की जिस पर विरोधी खिलाड़ी ने कई गलतियां की. फाजियेव अपने पहले सर्विस गेम में ही 0-4 से पिछड़ गए और फिर दूसरे ब्रेक पॉइंट पर उन्होंने शाट बाहर मारकर अपनी सर्विस गंवा दी.

रामकुमार ने अपनी सर्विस बचाते हुए 3-0 की बढ़त बनाई. उज्बेकिस्तान के खिलाड़ी ने चौथे गेम में लगातार तीन डबल फॉल्ट किए. लेकिन इसके बावजूद अपनी सर्विस बचाने में सफल रहे. छठे गेम में रामकुमार को एक और ब्रेक पॉइंट मिला लेकिन फाजियेव ने इसे भी बचा लिया. बोपन्ना ने नौवें गेम में अपनी सर्विस बचाते हुए पहला सेट अपने नाम किया. दूसरे सेट के पहले गेम में दो ब्रेक पॉइंट गंवाने के बाद रामकुमार ने एक और ब्रेक पॉइंट हासिल किया और फिर फाजियेव ने वॉली पर गलती करते हुए अपनी सर्विस गंवा दी.

फाजियेव ने बाकी गेम में बेहतर सर्विस की और रिटर्न भी अच्छे किए लेकिन इसके बावजूद रामकुमार ने सातवें गेम में एक और बार विरोधी खिलाड़ी की सर्विस तोड़कर 5-2 की बढ़त बनाई. फिर अगले गेम में अपनी सर्विस बचाकर सेट और मैच जीत लिया.

मुकाबले के अंतिम मैच में प्रज्ञेश और इस्माइलोव दोनों ने काफी अच्छी सर्विस की. प्रज्ञेश ने 12वें ओवर में फोरहैंड पर तीन गलतियां करते हुए विरोधी को तीन ब्रेक पॉइंट दिए. भारतीय खिलाड़ी ने पहला ब्रेक पॉइंट बचाया. लेकिन दूसरे अंक पर फोरहैंड शॉट बाहर मारकर पहला सेट विरोधी की झोली में डाल दिया.

दूसरे सेट के दूसरे गेम में भी प्रज्ञेश ने सर्विस गंवाई जिसके बाद उज्बेकिस्तान के खिलाड़ी ने 3-0 की बढ़त बनाई. प्रज्ञेश ने नौवें गेम में दो मैच पॉइंट बचाए लेकिन इस्माइलोव को सेट और मैच जीतने से नहीं रोक पाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi