S M L

डेविस कप: छूट मिलने के बाद कोलकाता के ग्रास कोर्ट को मिली इटली की मेजबानी

नियमों के अनुसार विश्व ग्रुप और प्लेऑफ के मैच ऐसे स्थल पर खेलने होते हैं जहां बेसलाइन के पीछे का खाली हिस्सा 27 फुट हो

Updated On: Nov 13, 2018 09:22 PM IST

Bhasha

0
डेविस कप: छूट मिलने के बाद कोलकाता के ग्रास कोर्ट को मिली इटली की मेजबानी

भारत डेविस कप क्वालिफायर्स में एक और दो फरवरी को कोलकाता में साउथ क्लब में ग्रास कोर्ट पर इटली की मेजबानी करेगा. अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) को अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ (आईटीएफ) से दो प्रमुख छूट मिलने के बाद ही कोलकाता को मैच स्थल चुना गया.
नियमों के अनुसार विश्व ग्रुप और प्लेऑफ के मैच ऐसे स्थल पर खेलने होते हैं जहां बेसलाइन के पीछे का खाली हिस्सा 27 फुट हो और स्टेडियम की क्षमता 4000 दर्शकों की हो. केवल डीएलटीए और एमएसएलटी का सेंटर कोर्ट ही इन मानदंडों को पूरा करता है लेकिन इनमें ग्रास कोर्ट नहीं है. भारत के गैर खिलाड़ी कप्तान महेश भूपति ग्रास कोर्ट पर खेलने के इच्छुक थे, क्योंकि इटली के खिलाड़ी हार्ड कोर्ट पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं.
एआईटीए सचिव हिरणमय चटर्जी ने पीटीआई से कहा कि हमने आईटीएफ को लिखा और उनसे यह छूट देने का आग्रह किया, क्योंकि हम ग्रास कोर्ट पर खेलना चाहते थे. साउथ क्लब कोर्ट में बेसलाइन के बाद का खाली हिस्सा 21 फुट है और उसकी क्षमता 3000 दर्शकों की है. आईटीएफ इस पर सहमत हो गया. उन्होंने कहा कि हमने तिथियों में बदलाव का भी आग्रह किया था लेकिन इस पर उन्होंने सहमति नहीं जताई. हम शुक्रवार और शनिवार के बजाय शनिवार और शुक्रवार को मुकाबला चाहते थे. भूपति ने एआईटीए के प्रयासों की तारीफ की. उन्होंने कहा कि हम यही चाहते थे. हमारा मानना है कि ग्रास कोर्ट पर खेलने से इटली को हराने की संभावना बढ़ जाएगी, इसलिए हमें खुशी है कि एआईटीए ने सफल प्रयास किया. अब हमें इस मौके का फायदा उठाना होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi