S M L

CWG 2018, Wrestling : ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ने की कोशिश करेंगे भारतीय पहलवान

स्वर्ण पदकों के प्रबल दावेदार में शुरुआत करेगी सुशील की अगुआई में भारतीय टीम  

Updated On: Apr 11, 2018 06:18 PM IST

FP Staff

0
CWG 2018, Wrestling : ग्लास्गो के प्रदर्शन को पीछे छोड़ने की कोशिश करेंगे भारतीय पहलवान
Loading...

साइ के सोनीपत स्थित केंद्र में कुश्ती के हॉल में युवा खिलाड़ियों ने सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त की तस्वीरें लगा रखी हैं. वे इन धुरंधर पहलवानों की तस्वीरों के सामने अभ्यास करते हैं, ताकि उनकी तरह सफलता हासिल कर सकें. भारतीय कुश्ती टीम गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने अभियान की गुरुवार से यहां शुरुआत करेगी, जिसमें शुरू में ही दो बार के ओलिंपिक चैंपियन सुशील कुमार (74 किग्रा) भी अपना दमखम दिखाएंगे. जाहिर है कि उनके रहने से कुश्ती टीम का मनोबल आसमान पर होगा. कुल 23 कॉमनवेल्थ देशों के 103 पहलवान अगले तीन दिन तक खिताब के लिए अपना दमदम दिखाएंगे.

पहलवानों के लिए उसी स्थल को अखाड़ा बनाया गया है, जहां भारोत्तोलकों ने नौ अप्रैल को अपना शानदार अभियान समाप्त किया था. भारतीय भारोतोलकों ने पांच स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य पदक जीतकर यह स्थल छोड़ा था और पहलवानों को उम्मीद होगी कि वे इसकी बराबरी के बजाय इससे बेहतर प्रदर्शन करें. भारतीय कोच कुलदीप सिंह ने कहा, ‘हर किसी ने अपेक्षा लगा रखी है कि हम यहां स्वर्ण पदक जीतें और मैं आपको आश्वासन देता हूं कि ऐसा होने जा रहा है. गुरुवार को हमारा शीर्ष पहलवान सुशील मुकाबले में उतरेगा. उनकी फिटनेस बहुत अच्छी है.’

सुशील और राहुल उतरेंगे पहले दिन

खेलों के लिए सुशील की तैयारी बहुत अच्छी नहीं रही और उन्हें चयन विवाद में भी घसीटा गया था जब उनके समर्थक और उनके प्रतिद्वंद्वी प्रवीण राणा के प्रशंसक ट्रायल के दौरान आपस में भिड़ गए थे. यह देखना दिलचस्प होगा कि सुशील प्रतियोगिता से पहले के इस दबाव से कैसे पार पाते हैं. सुशील के अलावा पुरुष वर्ग में राहुल अवारे भी पहले दिन ही अखाड़े में उतरेंगे. यह 57 किग्रा फ्रीस्टाइल का पहलवान कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप का पूर्व स्वर्ण पदक विजेता है.

ग्लास्गो से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद

भारत ने 2014 ग्लास्गो खेलों में कुश्ती में पांच स्वर्ण, छह रजत और दो कांस्य पदक सहित 13 पदक जीते थे. शीर्ष पर रहे कनाडा से उसे एक पदक कम मिला था. कुलदीप सिंह ने कहा, ‘ निश्चित तौर हम ग्लास्गो से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे हैं. हमारा लक्ष्य खेलों का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना है. महिलाओं में नाइजीरिया के पास कुछ दमदार पहलवान हैं. कनाडा भी चुनौती पेश करेगा, लेकिन कोई भी इतना मजबूत नहीं है जो हमें अधिक से अधिक स्वर्ण पदक बटोरने से रोक सके.’

बबिता फोगाट भी दिखाएंगी अपना जलवा

पहले दिन महिला वर्ग में 53 किग्रा में मौजूदा चैंपियन बबिता फोगाट भी अपना जलवा दिखाएंगी. उनकी चचेरी बहन विनेश आखिरी दिन 48 किग्रा में अपना भाग्य आजमाएंगी. वह भी अपने भार वर्ग में मौजूदा चैंपियन हैं. ओलंपिक कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक (62 किग्रा) का मुकाबला भी आखिरी दिन होगा.

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi