S M L

CWG 2018 : एथलीट्स के रिश्तेदार भी ऑस्ट्रेलिया जाएंगे, लेकिन अपने खर्चे पर

मंत्रालय ने 221 एथलीट और 104 अधिकारियों के नाम मंजूर किए, रौनक का नाम भी क्लीयर

FP Staff Updated On: Mar 26, 2018 09:55 PM IST

0
CWG 2018 : एथलीट्स के रिश्तेदार भी ऑस्ट्रेलिया जाएंगे, लेकिन अपने खर्चे पर

बड़े खेल आयोजन के मौके पर भारतीय ओलंपिक संघ( आईओए) और खेल मंत्रालय के बीच टकराव ना हो, ऐसा हो नहीं सकता. ऐसे ही हालात इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स के मौके पर बन गए थे. ऑस्ट्रेलिया के गोल कोस्ट में अगले महीने चार तारीख से शुरू होने वाले इन खेलों के लिए खेल मंत्रालय ने आईओए की भेजी लिस्ट में से एथलीट्स के रिश्तेदारों समेत कुछ पदाधिकारियों के नाम काट दिए थे. जिन लोगों के नाम काटे गए हैं उनमें सायना नेहवाल के पिता हरवीर सिंह, पीवी सिंधु की मां विजया पुर्सेला और शूटर हिना सिद्धू के पति और कोच रौनक पंडित शामिल थे. लेकिन सोंमवार को खेल मंत्रालय ने इन नामों के साथ 221 खिलाड़ियों सहित 325 सदस्यीय भारतीय दल को भेजने की अनुमति दे दी. इस सूची से आईओए द्वारा नामित दो सदस्यों के नाम हटा दिए गए हैं.

अपने खर्चे पर जाएंगे सायना के पिता और सिंधु की मां

खिलाड़ियों के अलावा भारतीय दल में 104 गैर खिलाड़ी शामिल हैं, जिसमें 58 कोच, सात मैनेजर, 17 चिकित्सक एवं फिजियोथेरेपिस्ट और 22 अन्य अधिकारियों के नाम हैं. सरकार 221 खिलाड़ियों के अलावा कुल 89 लोगों (54 कोच, 16 चिकित्सक एवं फिजियोथेरेपिस्ट और 19 अन्य अधिकारी) का खर्च वहन करेगी. बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधु की मां विजया और सायना के पिता हरवीर सिंह उन 15 अधिकारी/ गैर खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं, जिनका खर्च सरकार वहन नहीं करेगी. मंत्रालय की जारी सूची में उन्हें कोई पद नहीं दिया गया है.

सात प्रबंधकों का खर्च खेल महासंघों को वहन करना

इसके अलावा सात प्रबंधकों का खर्च भी सरकार नहीं उठाएगी और खेल महासंघों को उनका खर्च वहन करना होगा. हालांकि खिलाड़ियों के नाम की सूची 219 की हो गई है. क्योंकि ऊंची कूद खिलाड़ी एम श्रीशंकर अपेडिंक्स की सर्जरी के कारण इससे हट गए हैं. वहीं, टेबल टेनिस खिलाड़ी सौम्यजीत घोष पर बलात्कार का आरोप लगने के बाद उन्हें अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है.

आईओए द्वारा नामित दो सदस्यों को मंजूरी नहीं

आईओए ने इस सूची में अरुण मेदिंरत्ता का नाम दल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और हेमा वलेचा का नाम फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में शामिल किया था, लेकिन मंत्रालय ने उनके नाम को मंजूरी नहीं दी. इसके अलावा सरकार ने सभी अधिकारियों के नामों को 33 प्रतिशत नियम (अधिकारियों की संख्या खिलाड़ियों की संख्या के 33 प्रतिशत) के हिसाब से हरी झंडी दे दी. अधिकारियों की संख्या इससे ज्यादा होने पर उसका खर्च खेल महासंघ को वहन करना होगा.

रौनक के नाम को मंजूरी मिली

खेल मंत्रालय ने निशानेबाजी कोच रौनक पंडित का नाम आईओए की गैर एथलीट सूची में शामिल किया है. भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) और शीर्ष पिस्टल निशानेबाज हिना सिद्धू ने खेल मंत्रालय द्वारा आईओए की गैर एथलीट की सूची से 21 नाम काटने की आलोचना की थी, जिसमें रौनक का नाम भी शामिल था. रौनक निशानेबाजी टीम के कोच और प्रबंधक के तौर पर सरकार के खर्चे पर यात्रा करेंगे.

जिम्नास्टिक टीम के साथ कोई कोच नहीं

खेलों के लिए सबसे ज्यादा खिलाड़ी हॉकी के हैं. पुरुष और महिला टीम के 18-18 खिलाड़ियों से हॉकी के कुल 36 खिलाड़ी गोल्ड कोस्ट जाएंगे. इसके बाद एथलेटिक्स में 31 और निशानेबाजी में 27 खिलाड़ियों को भारतीय दल में चुना गया है. जिम्नास्टिक में सात (तीन पुरुष और चार महिला) खिलाड़ी बिना किसी कोच या सपोर्ट स्टाफ के इन खेलों में अपनी किस्मत आजमाएंगे.

50 डॉलर होगा दैनिक भत्ता

सरकार 221 एथलीट और 54 कोच को भत्ते के रूप में रोजाना 50 डॉलर देगी. जबकि 16 चिकित्सकों एवं फिजियोथेरेपिस्ट और 19 अन्य अधिकारियों को प्रति दिन 25 डॉलर मिलेंगे.

(एजेंसी इनपुट के साथ)ronak pandit

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi