S M L

CWG 2018, Men's Boxing : मुक्केबाजी में भारत के पांच और पदक पक्के

सतीश कुमार, मनोज कुमार, अमित पंघाल, नमन तंवर और हुसामुद्दीन मोहम्मद सेमीफाइनल में

Updated On: Apr 10, 2018 05:47 PM IST

FP Staff

0
CWG 2018, Men's Boxing : मुक्केबाजी में भारत के पांच और पदक पक्के

भारत के सतीश कुमार ने गोल्ड कोस्ट में 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के छठे दिन मंगलवार को मुक्केबाजी की 91 प्लस किलोग्राम भारवर्ग स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. सतीश ने त्रिनिदाद एंड टोबैगो के नाइजल पॉल को क्वार्टर फाइनल में 4-1 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई. इसी के साथ उन्होंने अपना कांस्य पदक पक्का कर लिया. भारत ने मुक्केबाजी में पांच कांस्य पदक पक्के कर लिए हैं. सतीश के अलावा, अमित पंघाल, नमन तंवर, हुसामुद्दीन मोहम्मद और मनोज कुमार ने सेमीफाइनल का टिकट कटा लिया है. इससे पहले एमसी मैरी कॉम (48 किलो) ने भी पदक पक्का कर लिया था. भारत को मंगलवार को पांच मुक्केबाजी मुकाबले खेलने थे और उसने सभी में जीत हासिल की.

अमित ने अकील अहमद को हराया

अमित ने स्कॉटलैंड के अकील अहमद को 4-1 से हराया. लगातार तीसरा अंतरराष्ट्रीय स्वर्ण हासिल करने की कोशिश में जुटे हरियाणा के 22 बरस के अमित शुरुआती दौर हार गए, लेकिन शानदार वापसी करके जीत दर्ज की. इंडिया ओपन और बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में अमित ने स्वर्ण पदक जीता था. अमित ने जीत के बाद कहा, ‘मैंने सोचा नहीं था कि अहमद इतना अच्छा खेलेगा. उसने अपनी रफ्तार से मुझे हैरान कर दिया. कोचों ने मुझे आक्रामक खेल दिखाने की सलाह दी और इसी से नतीजा मेरे पक्ष में गया. यह मेरे करियर का सबसे बड़ा पदक होगा. इसमें कोई शक नहीं.’

समोआ के फ्रेंक मासोइ पर भारी पड़े नमन

दूसरी ओर 19 बरस के नमन ने समोआ के फ्रेंक मासोइ को 5-0 से हराया. नमन ने युवा विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था. उन्होंने राष्ट्रीय ट्रायल में एशियाई रजत पदक विजेता सुमित सांगवान को हराकर टीम में जगह बनाई थी. अब उनका सामना ऑस्ट्रेलिया के जासन वाटले से होगा.

हुसामुद्दीन की मुलेंगिया पर आसान जीत

हुसामुद्दीन मोहम्मद ने क्वार्टर फाइनल में जांबिया के एवेरिस्टो मुलेंगिया को आसानी से 5-0 से मात दी. मोहम्मद अपने विपक्षी पर हावी रहे. मुलेंगिया ज्यादा आक्रामकता में दिखे और इसी का फायदा मोहम्मद ने उठाया. उन्होंने अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए विपक्षी खिलाड़ी के मुक्कों को जाया किया और फिर मौका पाते ही पलटवार किया. सभी रेफरियों ने आम सहमति से मोहम्मद को विजेता घोषित किया.

सतीश ने नाइजल को बाहर किया

सतीश पहले राउंड में हालांकि पूरी तरह से बैकफुट पर रहे और अपने प्रतिद्वंद्वी की लंबाई ज्यादा होने के कारण उन्हें अपने मुक्के मारने में परेशानी हुई. नाइजल ने पहले राउंड में अच्छे पंच बरसाए जो सटीक रहे.दूसरे राउंड में हालांकि सतीश ने वापसी की और रक्षात्मक खेल खेला और नाइजल की ऊर्जा को व्यर्थ जाने दिया. आलम यह रहा कि आखिरी राउंड में नाइजल काफी थक गए थे और इसका फायदा सतीश ने बखूबी उठाया.

मनोज ने टैरी निकोलस को मात दी

मनोज ने क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के टैरी निकोलस को 4-1 से मात दी. पहले राउंड की शुरुआत दोनों मुक्केबाजों ने धीमी की और रक्षात्मक खेल खेला, लेकिन धीरे-धीरे मनोज ने अपने विपक्षी की कमजोरी को भांप आक्रामकता दिखाई और जैब का अच्छा इस्तेमाल करते हुए उन्हें रक्षात्मक खेल खेलने पर मजबूर कर दिया. दूसरे राउंड में टेरी शुरू से ही रक्षात्मक थे और लगातार पीछे जा रहे थे. मनोज ने उनकी इस रणनीति को पहचाना और टैरी पर हावी हो गए. टैरी हालांकि अपनी रणनीति में काफी हद तक सफल भी रहे. तीसरे राउंड में मनोज हावी थे, लेकिन टैरी ने कुछ अच्छे पंच लगाए. इस राउंड में भी वह रक्षात्मक खेल रहे थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi