S M L

CWG 2018 : पदक की संभावना न होने पर भारत ने मुक्केबाजी में कम की वेट कैटेगरी

भारत पुरुष वर्ग में 64 और 81 किग्रा वजन वर्ग के अलावा महिलाओं के दो वजन वर्ग 57 किग्रा और 75​ किग्रा में भी अपने मुक्केबाज नहीं उतारेगा

Updated On: Mar 21, 2018 07:52 PM IST

Bhasha

0
CWG 2018 : पदक की संभावना न होने पर भारत ने मुक्केबाजी में कम की वेट कैटेगरी

अगले महीने आॅस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत मुक्केबाजी के कुछ वर्ग में अपने खिलाड़ी नहीं उतारेगा.भारत पुरुष वर्ग में  64 और 81 किग्रा वजन वर्ग के अलावा महिलाओं के दो वजन वर्ग 57 किग्रा और 75 किग्रा में भी अपने मुक्केबाज नहीं उतारेगा. इस प्रतियोगिता के लिए ट्रायल इस महीने के अंत में होंगे. एक शीर्ष सूत्र ने पीटीआई को बताया कि भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने इसका कारण इन वर्गों में पदक की कम संभावना को बताया है.

इस फैसले का मतलब हुआ कि भारत चार से 15 अप्रैल तक होने वाले खेलों में आठ सदस्यीय पुरुष (49 किग्रा, 52 किग्रा, 56 किग्रा, 60 किग्रा, 69 किग्रा, 75 किग्रा, 91 किग्रा और 91 किग्रा से अधिक) और चार सदस्यीय महिला टीम (48 किग्रा, 51 किग्रा, 60 किग्रा और 69 किग्रा) टीम उतारेगा.

टीम सौंपने की अंतिम समय सीमा पांच मार्च है और अगले हफ्ते की शुरुआत में बुल्गारिया से मुक्केबाजों के लौटने के बाद ट्रायल होने की उम्मीद है. मुक्केबाज बुल्गारिया में स्ट्रैंडजा मेमोरियल टूर्नामेंट में हिस्सा लेने गए हैं. बीएफआई ने हालांकि इस फैसले को लेकर चुप्पी साध रखी है और उसके महासचिव जय कोवली ने कहा, ‘‘मैं व्यक्तिगत वजन वर्ग पर टिप्पणी नहीं करूंगा जो होंगी या नहीं होंगी, लेकिन सभी मुक्केबाजों को पर्याप्त मौका मिलेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने फैसला किया है कि सिर्फ एक ट्रायल पात्रता नहीं होगा और हम प्रत्येक टूर्नामेंट में प्रत्येक मुक्केबाज के प्रदर्शन का आकलन कर रहे हैं. टीमों के स्ट्रैंडजा से लौटने के बाद हमें राष्ट्रमंडल खेलों के लिए टीम को अंतिम रूप देंगे.’’

पुरुष वर्ग में 64 और 81 किग्रा वर्ग को हटाना हैरानी भरा नहीं है, क्योंकि इन वर्गों में भारत को पदक नहीं मिल रहे हैं, लेकिन महिला 57 किग्रा वर्ग को हटाना हैरानी भरा है क्योंकि इस वर्ग में सोनिया लाठेर ने विश्व और एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीता है. वह हालांकि पिछले महीने इंडिया ओपन और मौजूदा स्ट्रैंडजा मेमोरियल में जल्दी बाहर हो गईं. यह पूछने पर कि क्या जिस मुक्केबाज का वजन वर्ग हटाया गया है उसे किसी और वर्ग में ट्रायल का मौका मिलेगा. कोवली ने कहा, ‘‘हम अगले कुछ दिनों में इस पर फैसला करेंगे।’’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi