S M L

CWG 2018, Athletics : मोहम्मद अनस पदक से चूके, लेकिन राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने में सफल रहे

हिमा दास ने बनाई महिला 400 मीटर के फाइनल में जगह

FP Staff Updated On: Apr 10, 2018 07:21 PM IST

0
CWG 2018, Athletics : मोहम्मद अनस पदक से चूके, लेकिन राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने में सफल रहे

मोहम्मद अनस याहिया गोल्ड कोस्ट में 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के छठे दिन मंगलवार को एथलेटिक्स प्रतियोगिता में पुरुषों की 400 मीटर दौड़ में मामूली अंतर से कांस्य पदक से चूक गए, लेकिन 45.31 सेकेंड का समय लेकर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाने में सफल रहे. जबकि हिमा दास ने निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ इसी स्पर्धा के महिला फाइनल के लिए क्वालिफाई किया.

मोहम्मद अनस 400 मीटर दौड़ में चौथे स्थान पर रहे. बोत्सवाना ने पहले दोनों स्थानों पर कब्जा कर लिया. इसाक मकवाला (44.35 सेकेंड) और बाबोलोकी थेबे (45.09 सेकेंड) ने क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक जीता. जमैका के जेवोन फ्रांसिस ने 45.11 सेकेंड का समय लेकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया. 45.31 सेकेंड का समय लेने वाले अनस ने अपना ही 45.32 सेकेंड का राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ दिया. ये राष्ट्रीय रिकॉर्ड उन्होंने पिछले साल नई दिल्ली में इंडियन ग्रा प्री में बनाया था.

मोहम्मद अनस दूसरे भारतीय पुरुष एथलीट हैं, जिन्होंने चार साल बाद होने वाले वन लैप इवेंट के फाइनल में जगह बनाई है. मिल्खा सिंह ने 1958 में कार्डिफ कॉमनवेल्थ गेम्स में 440 गज दौड़ में स्वर्ण पदक जीता था. मोहम्मद अनस ने पिछले साल भुवनेश्वर में हुई एशियन चैंपियनशिप में 45.77 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता था.

 'मैंने जो हासिल किया उसकी मुझे खुशी है'

अनस ने कहा, ‘बारिश के कारण मेरी लय प्रभावित हुई क्योंकि ट्रैक पर पानी होने के कारण अधिक प्रयास करना पड़ रहा था. ट्रैक सख्त नहीं रह गया था. पैर की मांसपेशियों पर अधिक दबाव पड़ रहा था. साथ ही सर्दी के कारण शरीर जकड़ा हुआ लग रहा था.’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे विश्वास था कि इस स्तर पर मैं कहीं बेहतर प्रदर्शन कर सकता हूं. मुझे तीसरे स्थान पर आने की उम्मीद थी, लेकिन मैंने जो हासिल किया उसकी मुझे खुशी है. अब मैं एशियाई खेलों की तैयारी करूंगा. मैं अब जाकर सोऊंगा क्योंकि पिछले सेमीफाइनल में मैंने अपना सब कुछ झोंक दिया था.’

हिमा दास ने किया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 

हिमा दास भी महिला 400 मीटर में 51.53 सेकेंड का अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए फाइनल में जगह बनाने में सफल रहीं. वह सेमीफाइनल में तीसरे स्थान पर रहीं, जबकि फाइनल में जगह बनाने वाली आठ धाविकाओं में उन्होंने सातवां सबसे तेज समय निकाला. उन्होंने अपने निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में 0.44 सेकेंड का सुधार किया. हिमा ने राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालिफाई करके सभी को हैरान किया था और उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी को हैरान करना जारी रखा है.

(अनस का कोट एजेंसी से लिया गया है)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi