S M L

CWG 2018: अपूर्वी पर होगी खिताब को बरकरार रखने की जिम्मेदारी

2014 में ग्लास्गो में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में अपूर्वी चंदेला ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया था

Updated On: Mar 24, 2018 06:37 PM IST

FP Staff

0
CWG 2018: अपूर्वी पर होगी खिताब को बरकरार रखने की जिम्मेदारी

नाम: अपूर्वी चंदेला उम्र: 4 जनवरी 1993 (25 साल) खेल: निशानेबाजी कैटेगरी: 10 एयर राइफल

पिछला कॉमनवेल्थ प्रदर्शन: 2014 ग्लास्गो कॉमनवेल्थ में स्वर्ण पदक

आॅस्ट्रेलिया में 4 अप्रैल से शुरू हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में गत चैंपियन निशानेबाज अपूर्वी चंदेला पर इस बार अपने खिताब को बचाने का दावोंदार होगा. जयपुर की चंदेला ने 2014 में ग्लास्गो में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था. चंदेला ने 15 वर्ष की उम्र में अभिनव बिंद्रा के ऐतिहासिक ओलिंपिक गोल्ड मेडल से प्रेरित होकर राइफल को हाथ में थामा और चार साल बाद पेशेवर निशानेबाजी में आई चंदेला अपने घर पर ही बनीं शूटिंग रेंज में अभ्यास करती है. पेशेवर निशानेबाजी में आने के एक साल बाद यानि 2012 में चंदेला ने सीनियर स्तर में नेशनल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता. 2014 में नीदरलैंड्स में हुए इंटरशूट प्रतियोगिता में चंदेला ने स्वर्ण और कांस्य दो पदक जीते.

चंदेला ने निशानेबाजी करियर को मजबूती 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में जीतने के बाद मिली. चंदेला ने हमवतन अयोनिका पॉल को पीछे छोड़कर स्वर्ण पर निशाना लगाया था. इसके बाद 2015 में साउथ कोरिया में हुए विश्व कप में कांस्य पदक जीतने के साथ ही चंदेला ने 2016 रियो ओलिंपिक के क्वलीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी भी बनी. 2016 की शानदार शुरुआत करते हुए चंदेला ने स्वेडिश ग्रांड पिक्स में विश्व रिकॉर्ड तोड़ते हुए स्वर्ण जीता. हालांकि ओलिंपिक में उनका सफर कुछ ज्यादा खास नहीं रहा और 51 प्रतियोगियों में से 34वें स्थान पर रही. 25 वर्षीय युवा निशानेबाज कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक की दावेदारी में एक बड़ा नाम है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi