S M L

CWG History : 2002, मैनचेस्टर में भारत एक खेल शक्ति के तौर पर उभरा

30 स्वर्ण पदक के साथ वह कनाडा से एक स्वर्ण पदक पीछे चौथे स्थान पर रहा

Updated On: Apr 03, 2018 11:51 PM IST

FP Staff

0
CWG History : 2002, मैनचेस्टर में भारत एक खेल शक्ति के तौर पर उभरा

21वीं शताब्दी के साथ कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन और बड़ा हुआ. साल 2002 में राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन इंग्लैंड (मैनचेस्टर) में हुआ. इसमें कुल 72 देशों ने भाग लिया. यह इंग्लैंड में 1948ओलंपिक के बाद होने वाला सबसे बड़ा खेल आयोजन था, जिसमें 14 व्यक्तिगत खेलों के साथ तीन टीम खेल को शामिल किया गया था. इसमें कुल 3679 खिलाड़ियों ने भाग लिया. इन खेलों में भारत एक खेल शक्ति के तौर पर उभरा और 30 स्वर्ण पदक के साथ वह कनाडा से एक स्वर्ण पदक पीछे चौथे स्थान पर रहा.

महिला हॉकी टीम ने इतिहास रचा

भारतीय महिला हॉकी टीम ने फाइनल में इंग्लैंड को 3-2 से मात देकर स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया. जबकि वो पहले प्रयास में चौथे स्थान पर रही थी. पुरुष टीम ने इसमें हिस्सा नहीं लिया. भारतीय निशानेबाजों ने भी रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन करते हुए 10 स्वर्ण पदक जीते. वेटलिफ्टिरों में पुरुष तो कमाल नहीं दिखा पाए पर कुंजरानी देवीसानामाचा चानू और शैलजा की गोल्डन हैट्रिक से भारत ने 11 स्वर्ण झटक डाले. पहलवानों ने तीन स्वर्ण पदकों पर कब्जा किया. मुक्केबाज मोहम्मद अली कमर इन खेलों में भारत के लिए स्वर्ण जीतने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बने. 

ऑस्ट्रेलिया का दबदबा कायम

एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया का दबदबा नजर आया और उसने 82 स्वर्ण के साथ कुल 207 पदक जीते. इंग्लैंड ने 54 स्वर्ण के साथ 166, कनाडा ने 31 स्वर्ण के साथ 118 और भारत ने 30 स्वर्ण के साथ 69 पदक हासिल किए. न्यूजीलैंड को 11 और साउथ अफ़्रीका को नौ स्वर्ण पदक मिले.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi