S M L

CWG 2018 : अपने प्रदर्शन पर सीरिंज विवाद की छाया नहीं पड़ने देंगे भारतीय खिलाड़ी

बुधवार को उद्घाटन समारोह, कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के इरादे से उतरेगा भारतीय दल

Updated On: Apr 03, 2018 10:22 PM IST

FP Staff

0
CWG 2018 : अपने प्रदर्शन पर सीरिंज विवाद की छाया नहीं पड़ने देंगे भारतीय खिलाड़ी

सीरिंज विवाद के बावजूद भारतीय दल बुधवार से शुरू हो रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में ऊंचे मनोबल के साथ अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के इरादे से उतरेगा. भारतीयों के लिए सीरिंज विवाद रंग में भंग डालने वाला रहा है. हालांकि राष्ट्रमंडल खेल महासंघ ने अभी देश के नाम का खुलासा नहीं किया है. सीरिंज मिलने के बाद हुए डोप टेस्ट के नतीजे निगेटिव रहे जिससे डोपिंग की शर्मिंदगी से बच गए, लेकिन ‘नो नीडल पालिसी’ के उल्लंघन से काफी किरकिरी हुई है.

भारत के ध्वजारोहण समारोह में हालांकि खिलाड़ियों का मनोबल काफी ऊंचा था. ये तय है कि वे इन खेलों में अपने प्रदर्शन पर इस विवाद की छाया नहीं पड़ने देंगे. भारतीय दल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘ जो कुछ हुआ, वह बेवकूफाना था. इसमें कोई अवैध काम नहीं था. उम्मीद है कि तिल का ताड़ नहीं बनाया जाएगा.’

निशानेबाजों, मुक्केबाजों, बैडमिंटन खिलाड़ियों और पहलवानों से उम्मीदें

ग्लास्गो में पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 15 स्वर्ण, 30 रजत और 19 कांस्य समेत 64 पदक जीते थे. इस बार 218 सदस्यीय दल से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद होगी. अपेक्षाओं का अधिकांश बोझ निशानेबाजों, मुक्केबाजों, बैडमिंटन खिलाड़ियों और पहलवानों पर होगा जो बेहतरीन फॉर्म में हैं. दोनों हॉकी टीमों से भी पदक की उम्मीद रहेगी. पीवी सिंधु,  जीतू राय, सायना नेहवाल, एमसी मैरी कॉम, सुशील कुमार और विनेश फोगाट पदक उम्मीदों में से हैं. जिमनास्ट और टेबल टेनिस खिलाड़ी भी उलटफेर कर सकते हैं.

पहले दिन ही मिल सकता है भारत को पहला पदक

स्पर्धाएं पांच अप्रैल से शुरू होंगी, जबकि बुधवार को उद्घाटन समारोह है. भारत को पहला पदक शुरुआती दिन ही मिल सकता है जब विश्व चैंपियन भारोत्तोलक मीराबाई चानू 48 किलो वर्ग में उतरेंगी. इसी दिन बैडमिंटन खिलाड़ी, मुक्केबाज और टेबल टेनिस खिलाड़ी अपने अभियान का आगाज करेंगे.

गोल्ड कोस्ट में नहीं दिख रहा कोई उत्साह

हालांकि इन खेलों को लेकर उत्साह इस शहर में अभी तक नजर नहीं आ रहा. खेलों की शुरुआत में बस एक दिन रह गया है, लेकिन गोल्ड कोस्ट में कोई उत्साह नहीं दिख रहा. शहर भर में 71 राष्ट्रमंडल देशों के इस्तकबाल के साइनबोर्ड लगे हैं, लेकिन वह त्योहार सरीखा माहौल नहीं दिख रहा जो आम तौर पर हर चार साल में राष्ट्रमंडल देशों के इस खेल महासमर के मेजबान शहर में नजर आता है. आयोजक अभी भी इस खूबसूरत शहर के बाशिंदों से टिकटें खरीदने की अपील कर रहे हैं क्योंकि कई खेलों के टिकट बिके ही नहीं है. खेलों की आयोजन समिति के सीईओ मार्क पीटर्स ने कहा, ‘ जाओ और टिकट खरीदो. यह जीवन में एक बार मिलने वाला अनुभव है. इस मौके को मत गंवाओ.’

फर्राटा धावक ब्लैक और  सैली पीयरसन होंगे आकर्षण का केंद्र

इन खेलों में जमैका के फर्राटा धावक ब्लैक, विश्व चैंपियन बाधा धाविका सैली पीयरसन, ब्रिटिश गोताखोर टॉम डाले और साउथ अफ्रीका की केस्टर सेमेन्या जैसे अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी नजर आएंगे. पीटर्स ने कहा, ‘हम यही चाहते हैं कि सारे टिकट बिकें. मुझे यकीन है कि खेल शुरू होने तक 95 प्रतिशत टिकट बिक जाएंगे. कुल मिलाकर 12 लाख टिकट बिक चुके हैं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi