S M L

China Open badminton : जीत के ट्रैक पर वापसी करने का श्रीकांत के पास है मौका, तो सिंधु भी चाहेंगी नई शुरुआत

पिछले हफ्ते जापान ओपन के दूसरे दौर में हार के दौरान सिंधु पर थकान का असर दिख रहा था. व्यस्त कार्यक्रम के कारण उन्हें थकान से उबरने का पर्याप्त समय नहीं मिल रहा

Updated On: Sep 17, 2018 06:16 PM IST

Bhasha

0
China Open badminton : जीत के ट्रैक पर वापसी करने का श्रीकांत के पास है मौका, तो सिंधु भी चाहेंगी नई शुरुआत

भारत की शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को अगर अंतरराष्ट्रीय सर्किट में अपने लगातार अच्छे प्रदर्शन को जारी रखना है और मंगलवार से चांगझू में शुरू हो रहे चाइना ओपन के खिताब को दोबारा जीतना है तो थकान से उबरने का तरीका ढूंढना होगा.

पिछले हफ्ते जापान ओपन के दूसरे दौर में हार के दौरान सिंधु पर थकान का असर दिख रहा था. पिछले साल अक्टूबर में डेनमार्क ओपन के पहले दौर में हार के बाद यह पहला मौका था, जब सिंधु किसी टूर्नामेंट से जल्दी बाहर हुई थीं.

23 साल की सिंधु ने मौजूदा सत्र में अच्छा प्रदर्शन किया और तीन बड़ी प्रतियोगिताओं राष्ट्रमंडल खेल, विश्व चैंपियनशिप और एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने में सफल रही हैं. वह इंडिया ओपन और थाईलैंड ओपन के फाइनल में भी पहुंचने में सफल रहीं. हालांकि व्यस्त कार्यक्रम के कारण सिंधु को थकान से उबरने का पर्याप्त समय नहीं मिल रहा है.

2016 में जीता था सिंधु ने खिताब

सिंधु ने 700000 डॉलर इनामी चाइना ओपन का खिताब 2016 में जीता था और बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स खिताब के वह प्रबल दावेदारों में शामिल हैं. तीसरी वरीय सिंधु अपने अभियान की शुरुआत ओलंपिक स्पोर्ट्स सेंटर शिनचेंग जिम्नेजियम में हांगकांग की च्युंग एनगेन यी के खिलाफ करेंगी.

सायना का सामना सुंग जी ह्युन से

राष्ट्रमंडल खेलों की दो बार की स्वर्ण पदक विजेता सायना नेहवाल जापान ओपन से बाहर रहने के बाद तरोताजा महसूस कर रही होंगी. उन्हें पहले दौर में कोरिया की सुंग जी ह्युन की कड़ी चुनौती का सामना करना है. चाइना ओपन का 2014 में खिताब जीतने वाली सायना का सुंग जी के खिलाफ 8-2 का रिकॉर्ड है और अगर वह कोरियाई खिलाड़ी के खिलाफ जीत दर्ज करती हैं तो चीन की पांचवीं वरीय चेन युफेई से उनकी भिड़ंत हो सकती है. सायना और सिंधु अगर अपने-अपने मुकाबले जीत लेती हैं तो क्वार्टर फाइनल में इन दोनों की भिड़ंत हो सकती है.

श्रीकांत से होगी लय में लौटने की उम्मीद

पिछले सत्र में चार खिताब जीतने वाले किदांबी श्रीकांत मौजूदा सत्र में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं. सातवें वरीय श्रीकांत ने राष्ट्रमंडल खेलों में पुरुष सिंगल्स का रजत पदक जीता, लेकिन उनके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी है. इस साल कुछ समय दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी रहे श्रीकांत अपने अभियान की शुरुआत डेनमार्क के रासमस गेम्के के खिलाफ करेंगे. क्वार्टर फाइनल में श्रीकांत को जापान के केंतो मोमोता से खेलना पड़ सकता है, जिन्होंने उन्हें मलेशिया और इंडोनेशिया में हराया.

और भी कई होंगे होड़ में

एचएस प्रणॉय को पहले दौर में हॉन्गकॉन्ग के आठवें वरीय एनजी का लोंग एंगस के खिलाफ खेलना है. अन्य भारतीयों में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी का सामना किम सो योंग और कोंग ही योंग की कोरिया की जोड़ी से होगा. पुरुष डबल्स में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी तथा मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ियां चुनौती पेश करेंगी, जबकि मिक्स्ड डबल्स में सात्विक और अश्विनी तथा प्रणव जैरी चोपड़ा और सिक्की कोर्ट में उतरेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi