S M L

बहरीन ओपन टेबल टेनिस में भारतीय युवा खिलाड़ियों ने जीते 12 पदक

अंडर-15 में वर्ल्ड नंबर-4 पायस जैन ने लड़कों के सिंगल्स स्पर्धा के फाइनल में चेक गणराज्य के सिमोन बेलिक को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता

Updated On: Feb 12, 2019 08:40 PM IST

FP Staff

0
बहरीन ओपन टेबल टेनिस में भारतीय युवा खिलाड़ियों ने जीते 12 पदक

बहरीन के मनामा में आयोजित बहरीन जूनियर एंड कैडेट ओपन टेबल टेनिस प्रतियोगिता (Bahrain Junior and Cadet Open) में भारतीय खिलाड़ियों ने आठ और पदक अपने नाम कर लिए. इनमें दो स्वर्ण, तीन रजत और तीन कांस्य पदक शामिल हैं. भारत ने इस तरह कुल 12 पदकों के साथ प्रतियोगिता में अपने अभियान का समापन किया.

भारत के लिए अंडर-15 में वर्ल्ड नंबर-4 पायस जैन ने लड़कों के सिंगल्स स्पर्धा के फाइनल में चेक गणराज्य के सिमोन बेलिक को 3-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता. लड़कियों के कैडेट वर्ग में पांच युवा खिलाड़ियों ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. हालांकि इन पांच में से केवल दो ही सेमीफाइनल तक पहुंच सके.

ये भी पढ़ें- ISL 2018-19 : मुंबई सिटी एफसी और नार्थईस्ट युनाइटेड की नजरें प्लेऑफ पर

अनर्ज्ञया मंजूनाथ और यश्चिनी घोरपांडे की जोड़ी ने ग्रीस की मालामेटिना पापादिमीत्रियू और मिस्र की हाना गोदा को 3-0 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया. सुहाना सैनी और स्वास्तिका घोष को क्रमश: मिनी कैडेट और जूनियर वर्ग में कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. अंडर-15 वर्ग में सुहाना को वर्ल्ड नंबर-42 हाना गोदा से सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा. वहीं, स्वास्तिका को रुस की क्रिस्टिना कजांतसेवा से शिकस्त खाकर कांस्य से संतोष करना पड़ा.

Anargya Manjunath

डबल्स वर्ग में अनर्ज्ञया मंजूनाथ और सुहाना सैनी तथा मनुश्री पाटिल और स्वास्तिका घोष की जोड़ी ने लड़कियों की जूनियर वर्ग के फाइनल में अपनी जगह बनाई. फाइनल में मंजूनाथ और सुहाना की जोड़ी को क्रिस्टिना और ओल्गा विश्नियाकोवा की जोड़ी से पराजय झेलनी पड़ी. इसके अलावा स्वास्तिका और मनुश्री की जोड़ी को भी फाइनल में रुस की जोड़ी से 2-3 से हारकर रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा.

ये भी पढ़ें- England Lions vs India A: दूसरे मैच में फॉर्म में लौटे राहुल पर होगी नजरें

लड़कों के डबल्स वर्ग में पायस जैन और दीपित पाटिल को भी फाइनल में रुस के अर्टेम टिखोनोव और लेव कात्समन की जोड़ी से शिकस्त का सामना करना पड़ा. भारतीय जोड़ी को रजत पदक मिला. भारतीय खिलाड़ियों ने इससे पहले चार और पदक जीते थे और उसने कुल 12 पदकों के साथ प्रतियोगिता का समापन किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi