S M L

Australian Open 2019: नडाल-जोकोविच के बीच खिताबी भिड़ंत मे दिखेगा सात साल पुराना रोमांच!

जोकोविच और नडाल के बीच यह 53वां मुकाबला होगा, जबकि ये दोनों खिलाड़ी आठवीं बार किसी ग्रैंडस्लैम फाइनल में आमने-सामने होंगे

Updated On: Jan 27, 2019 09:54 AM IST

Bhasha

0
Australian Open 2019: नडाल-जोकोविच के बीच खिताबी भिड़ंत मे दिखेगा सात साल पुराना रोमांच!

नोवाक जोकोविच और राफेल नडाल रविवार को मेलबर्न में 107वें ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस फाइनल के साथ आधुनिक युग की ‘बेजोड़ प्रतिद्वंद्विता’ को नए आयाम पर पहुंचाएंगे. दुनिया के इन दो शीर्ष खिलाड़ियों के नाम पर मिलाकर 31 ग्रैंडस्लैम खिताब दर्ज हैं और दोनों अपने खिताबों की संख्या में इजाफा करना चाहेंगे.

जोकोविच अगर जीत दर्ज करते हैं जो वह रिकॉर्ड सातवीं बार नॉर्मन ब्रुक्स ट्रॉफी को अपने हाथों में थामेंगे, जबकि 32 साल के नडाल अगर 2009 के बाद मेलबर्न पार्क में दोबारा खिताब जीतते हैं तो ओपन युग में सभी चार ग्रैंडस्लैम को कम से कम दो-दो बार जीतने वाले पहले खिलाड़ी बन जाएंगे.

ये भी पढ़ें- India vs New Zaland, 2nd ODI : फिर दिखी विकेट के पीछे धोनी की बिजली सी तेजी, रॉस टेलर बने शिकार

नडाल का यह 18वां ग्रैंडस्लैम खिताब होगा और वह सर्वकालिक सर्वाधिक ग्रैंडस्लैम खिताबों की संख्या के मामले में रोजर फेडरर के 20 खिताब के करीब पहुंच जाएंगे. जोकोविच अगर खिताब अपने नाम करते हैं तो 15वें खिताब के साथ पीट सम्प्रास को पीछे छोड़कर सर्वाधिक ग्रैंडस्लैम खिताब की सूची में तीसरे स्थान पर पहंच जाएंगे.

जोकोविच और नडाल के बीच यह 53वां मुकाबला होगा, जबकि ये दोनों खिलाड़ी आठवीं बार किसी ग्रैंडस्लैम फाइनल में आमने-सामने होंगे. दोनों खिलाड़ियों के बीच अब तक हुए मुकाबलों में जोकोविच ने 27 मैचों में जीत दर्ज की है जबकि नडाल ने 25 मैचों में बाजी मारी.

ये भी पढ़ें- पद्म पुरस्कार मिलने के ऐलान के बाद क्या बोले खिलाड़ी...

ग्रैंडस्लैम फाइनल में हालांकि नडाल का पलड़ा भारी है, जहां उन्होंने चार जीत दर्ज की जबकि तीन बार जोकोविच के खिलाफ उन्हें हार झेलनी पड़ी. नडाल हालांकि जोकोविच के खिलाफ पिछले तीन ग्रैंडस्लैम फाइनल जीतने में सफल रहे हैं. ग्रैंडस्लैम में सभी तरह के मुकाबलों में नडाल का जोकोविच पर पलड़ा भारी रहा है जहां उन्होंने नौ मैचों में जीत दर्ज की जबकि पांच में उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

ओपन युग में कभी दो खिलाड़ियों के बीच इतने मुकाबले नहीं हुए और ना ही कभी इतने करीबी मैच देखने को मिले. दोनों के बीच ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेला गया पिछला फाइनल 2012 में रिकॉर्ड पांच घंटे और 53 मिनट चला था. यह ग्रैंडस्लैम इतिहास का सबसे लंबा और कुछ लोगों की माने को सबसे शानदार फाइनल था. जोकोविच ने अंतिम सेट में 7-5 की जीत से खिताब अपने नाम किया, लेकिन इसके बाद दोनों खिलाड़ी इतना थक गए थे कि पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान खड़े होना भी मुश्किल हो गया था.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi