S M L

Asian Games History : 1974 में 'श्रीराम' के भरोसे था भारत, मुसीबत में गोल्ड से कराई देश की नैया पार

तेहरान एशियन गेम्स में श्रीराम सिंह ने एशियाई रिकॉर्ड बनाते हुए 800 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक जीता था

Updated On: Aug 14, 2018 11:36 AM IST

Sachin Shankar

0
Asian Games History : 1974 में  'श्रीराम' के भरोसे था भारत, मुसीबत में गोल्ड से कराई देश की नैया पार

राजपूताना रायफल्स दिल्ली की देन श्रीराम सिंह जब 1974 तेहरान एशियन गेम्स में भाग लेने गए तब तक वह काफी अनुभवी हो चुके थे. उनको निखारने में उस समय के मशहूर कोच इलियास बाबर की भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण थी. ये एक समर्पित शिष्य और प्रतिबद्ध कोच की कहानी है. श्रीराम सिंह ने एथलेटिक्स जीवन की शुरुआत एक स्प्रिंटर के तौर पर की थी. लेकिन इलियास बाबर ने उन्हें 800 मीटर दौड़ में भाग लेने की सलाह दी. इस बदलाव का पहला परिणाम तो 1970 बैंकाक एशियन गेम्स में ही देखने को मिल गया था. वह तब रजत पदक जीतने में सफल रहे थे. उसके बाद जो कुछ हुआ वो इतिहास बन चुका है.

रिकॉर्ड सहित 800 मीटर दौड़ का जीता था स्वर्ण पदक

पहले बात तेहरान एशियन गेम्स की. वहां श्रीराम सिंह ने एशियाई रिकॉर्ड बनाते हुए 800 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक जीता था. श्रीराम सिंह ने एक मिनट, 47.6 सेकेंड का समय निकाला था. बैंकाक एशियन गेम्स में श्रीराम सिंह बर्मा (अब म्यामार) के जिमी क्राम्पटन से मामूली अंतर से हार गए थे. लेकिन 1974 में तेहरान आने से पहले वह म्युनिख ओलिंपिक में जिमी क्राम्पटन को पछाड़ चुके थे. हालांकि वह पूरी तरह से फिट नहीं थे, लेकिन उन्हें इन खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का भरोसा था. श्रीराम सिंह ने फाइनल में ईरान के रजा इंतजारी और पाकिस्तान के मोहम्मद सिद्दीकी को हराया था. श्रीराम सिंह का ये गेम्स रिकॉर्ड आठ साल तक बरकरार रहा था.

एथलीटों ने दिलाए चार स्वर्ण पदक

तेहरान में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेहद लचर रहा था. भला हो एथलीटों का जिन्होंने श्रीराम सिंह की अगुआई में चार स्वर्ण पदक जीतकर भारत को तालिका में सातवें स्थान पर पहुंचा दिया था वरना स्थिति काफी बुरी होती. श्रीराम सिंह के अलावा शिवनाथ सिंह ने 5000 मीटर दौड़, टीसी योहानन ने लंबी कूद और विजय सिंह चौहान ने डिकेथलान में स्वर्ण पदक दिलाए थे. श्रीराम सिंह ने 4 गुणा 400 मीटर रिले में भारत को रजत पदक दिलाया था. इसके अलावा भारतीय खिलाड़ियों ने 12 रजत और 12 कांस्य पदक जीते थे.  श्रीराम सिंह का 800 का रिकॉर्ड 1994 में चीन के ली जिन इल ने तोड़ा. लेकिन उनका नेशनल रिकॉर्ड 42 साल तक कायम रहा. इस रिकॉर्ड को जनवरी 2018 में केरल के जिंसन जॉनसन ने गुवाहाटी में नेशनल इंटर स्टेट सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 1:45.65 सेकेंड की समय लेकर तोड़ा.

श्रीराम 1978 बैंकाक खेलों में बने थे बेस्ट एथलीट

श्रीराम सिंह ने 1978 बैंकाक एशियन गेम्स में 800 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक बरकरार रखा. इसके अलावा वह एक बार फिर 4 गुणा 400 मीटर रिले में भारत को रजत पदक दिलाने में सफल रहे. उनके शानदार प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें इन खेलों का सर्वश्रेष्ठ एथलीट घोषित किया गया. वैसे श्रीराम सिंह के करियर का सबसे यादगार पल 1976 मांट्रियल ओलिंपिक थे. उन्होंने लगातार दिनों में क्वालीफाइंग राउंड, सेमीफाइनल और फाइनल में शानदार प्रदर्शन किया. पहली रेस में श्रीराम सिंह ने एक मिनट, 45.86 सेकेंड का समय लेकर अपना ही एशियन रिकॉर्ड तोड़ा था. सेमीफाइनल में वह एक मिनट, 46.42 सेकेंड का समय लेकर दूसरे स्थान पर रहे थे. वह फाइनल में एक मिनट, 45.77 सेकेंड का समय लेकर सातवें स्थान पर रहे थे.

(फोटो साभार-यू ट्यूब)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi