S M L

69 मेडल@69 कहानियां: ईरान ने खत्म की कबड्डी में भारत की बादशाहत, हाथ नहीं आया गोल्ड

कहानी 64 और 65: 1990 से भारत ने अब तक एशियन गेम्स में कबड्डी में 7 गोल्ड मेडल जीते हैं और इससे पहले एक भी मैच नहीं हारा था

Updated On: Sep 16, 2018 06:44 PM IST

FP Staff

0
69 मेडल@69 कहानियां: ईरान ने खत्म की कबड्डी में भारत की बादशाहत, हाथ नहीं आया गोल्ड

एशियन गेम्स में जिस खेल में देश को गोल्ड मेडल की सबसे ज्यादा उम्मीद थी वो था कबड्डी. भारतीय टीमें एशियन गेम्स के इतिहास में कभी भी बिना गोल्ड मेडल के देश नहीं लौटी. टीमें इस बार मेडल के साथ तो लौटी लेकिन उसका रंग सुनहरा नहीं था. भारतीय महिला टीम ने सिल्वर मेडल हासिल किया, वहीं पुरुष टीम को ब्रॉन्ज से संतोष करना पड़ा. एशियन गेम्स के इतिहास में दोनों टीमों का यह अब तक सबसे खराब प्रदर्शन था.

1990 से भारत ने अब तक एशियन गेम्स में कबड्डी में 7 गोल्ड मेडल जीते हैं और इससे पहले एक भी मैच नहीं हारा था. हालांकि इस बार भारत का वो रिकॉर्ड भी टूट गया. भारतीय टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में ईरान के हाथों 27-18 से शिकस्त खानी पड़ी. साल 1990 के बाद पहली बार ऐसा हुआ है कि भारतीय टीम फाइनल तक नहीं पहुंच पाई. महिला कबड्डी के फाइनल में ईरान ने भारत को 27-24 से हरा दिया. भारत को रजत पदक से संतोष करना पड़ा. महिला टीम खुशकिस्मत रही है कि सेमीफाइनल में उसका सामना ईरान से नहीं हुआ. हालांकि, इस मैच में भारत की हार का ठीकरा कुछ हद तक खराब अंपायरिंग पर भी फोड़ा जा रहा है. जब से कबड्डी को एशियन गेम्स में शामिल किया है तब से भारतीय टीम गोल्ड मेडल जीत रही थी.

भारतीय पुरुष टीम ईरान से पहले साउथ कोरिया से हारी थी. संयोग से कोरियन कोच भारतीय हैं. उसी तरह ईरान की महिला टीम की कोच भारत की शैलजा जैन हैं. इन प्रशिक्षकों की वजह से दमखम वाले ईरानी और कोरियाई खिलाड़ियों को स्किल्स सीखने में मदद मिली. ईरान ने 2006 एशियन गेम्स में हिस्सा लेते हुए चौथा स्थान हासिल किया और फिर 2010 और 2014 में उप विजेता रहे. इस बार ईरान की दोनों टीमों ने गोल्ड अपने नाम करके बताया कि इस खेल में भारत की बादशाहत खत्म होने की कागार पर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi