S M L

Asian Games 2018: विकास और अमित ने देश के लिए बॉक्सिंग में पक्के किए मेडल

सरजूबाला देव का सफर क्वार्टर फाइनल में हारने से खत्म हो गया, महिला मुक्केबाज इस स्पर्धा से पहली बार खाली हाथ स्वदेश लौटेंगी

Updated On: Aug 29, 2018 07:56 PM IST

Bhasha

0
Asian Games 2018: विकास और अमित ने देश के लिए बॉक्सिंग में पक्के किए मेडल

भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्ण (75 किलो) ने बायीं आंख से खून निकलने के बावजूद एशियन गेम्स में लगातार तीसरा पदक पक्का किया, जबकि अमित पांघल (49 किग्रा) ने बुधवार को क्वार्टर फाइनल में तेज तर्रार प्रदर्शन से खेलों में पदार्पण के दौरान पोडियम स्थान पक्का किया.

हालांकि विश्व रजत पदकधारी सरजूबाला देवी (51 किग्रा) का सफर क्वार्टर फाइनल में हारने से खत्म हो गया. वह चीन की चांग युआन से 0-5 से हार गईं, जो युवा ओलिंपिक की स्वर्ण पदकधारी हैं और पूर्व युवा विश्व चैंपियन भी हैं. शाम के सत्र में राष्ट्रीय चैंपियन धीरज रांगी (64 किग्रा) ने मंगोलिया के बातारसुख चिंगजोरिग के खिलाफ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन वह जीत हासिल नहीं कर सके.

सरजूबाला की हार का मतलब है कि भारतीय महिला मुक्केबाज एशियन गेम्स में 2010 में शामिल की गई इस स्पर्धा से पहली बार खाली हाथ स्वदेश लौटेगी. एमसी मैरी कॉम ने 2014 चरण में स्वर्ण पदक, जबकि एल सरिता देवी और पूजा रानी ने कांस्य पदक हासिल किया था.

वर्ष 2010 में स्वर्ण और 2014 में कांस्य पदक जीतने वाले विकास ने बायीं आंख में कट लगने के बावजूद चीन के तूहेता अर्बीके टी को 3-2 से हराया. अब वह कजाखस्तान के अबिलखान अमानकुल से खेलेंगे.

इस साल कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले विकास ने कहा, ‘मेरी आंख में कट से मेरे प्रदर्शन पर असर पड़ा जो मुझे पहले दौर में लग गया था. मैं थोड़ा परेशान था और इसके कारण मैं उसे इतना रोक भी नहीं पा रहा था. अगर यह कट नहीं होता तो मैं उसे 5-0 से हरा देता जैसा कि मैंने पहले किया था. वह काफी अच्छा मुक्केबाज है.’
Jakarta: India's Amit Panghal (Blue) and PR Korea's Ryong Jong compete in the Men's Light Fly (46-49kg) Quarterfinal boxing event in the 18th Asian Games 2018 in Jakarta, Indonesia on Wednesday, Aug 29, 2018. (PTI Photo/ Shahbaz Khan) (PTI8_29_2018_000036B)

इससे पहले अमित ने सेमीफाइनल में प्रवेश करके एशियन गेम्स में अपना पहला पदक पक्का कर लिया. कॉमनवेल्थ गेम्स के रजत पदक विजेता सेना के इस मुक्केबाज ने साउथ कोरिया के किम जांग रियोंग को 5-0 से हराया. अब उनका सामना फिलिपिनो कार्लो पालाम से होगा. मुक्केबाजी में सेमीफाइनल में पहुंचने पर कांस्य पदक तय हो जाता है. हरियाणा के इस 22 वर्षीय मुक्केबाज का यह पहला एशियन गेम्स है. अमित ने इससे पहले इंडिया ओपन और बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में भी गोल्ड मेडल जीते थे, जबकि गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीता था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi