S M L

Asian games 2018: अपने प्रदर्शन से नाखुश सेजवाल ने ले लिया था संन्‍यास, अब पदक का रंग बदलने के लिए जुटे जी जान से

पिछले एशियन गेम्‍स में संदीप सेजवाल ने ब्रॉन्‍ज मेडल जीता था

Updated On: Aug 17, 2018 07:41 PM IST

FP Staff

0
Asian games 2018: अपने प्रदर्शन से नाखुश सेजवाल ने ले लिया था संन्‍यास, अब पदक का रंग बदलने के लिए जुटे जी जान से

पिछले एशियन गेम्‍स में 50 ब्रॉन्‍ज मेडल जीतने वाले भारतीय तैराक संदीप सेजवाल का कहना है कि वह इस बार ज्‍यादा दमखम के साथ तरणताल में उतरने को तैयार हैं. 2014 में इंचियोन एशियाड में संदीप ने 50 मीटर ब्रेस्‍टस्‍ट्रोक में ब्रॉन्‍ज मेडल जीता था और ऐसा करने वाले वह नवें भारतीय बनें. संदीप ने कहा कि एक समय वह बोरियत और प्रदर्शन में सुधार ना कर पाने के कारण इस खेल को छोड़ने का मन बना रहे थे, लेकिन बाद में इसका पछतावा न हो इसीनिलिए उन्‍होंने पूरे जोश के साथ पूल में उतरने का फैसला किया. संदीप ने अपने प्रदर्शन में सुधार ना होने के कारण पिछले साल संन्‍यास लेकर बच्‍चों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया था. संदीप ने पीटीआई से बात करते हुए है कि उन्‍होंने 8 महीने से तैराकी नहीं की और प्रदर्शन से बोरियत महसूर कर रहे थे. प्रदर्शन में सुधार भी नहीं हो रहा था. पिछले 8 सालों में वह एक विशेष समय पर ही फंस कर रहे गए थे. संदीप ने कहा कि उस समय उन्‍हें लगा कि उनकी तैराकी पूरी हो गई है, लेकिन कोच ने कहने पर वें खुद को एक मौका देना को तैयार हुए.

इस भारतीय तैराक का कहना है कि उनके लिए एकमात्र प्रेरणा सिर्फ यहीं थी कि वह अपने करियर के अच्‍छे प्रदर्शन के साथ अलविदा कहना चाहते थे. उन्होंने कहा कि उम्र के साथ वह ज्यादा अनुभवी हुए है और कुछ तकनीकी पहलुओं पर काम कर रहे हैं जिससे उन्हें बेहतर नतीजे मिल सके. उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों में काफी बदलाव आया हैं, उम्र के कारण वह रिकवरी पर पूरा ध्यान दे रहे हैं. चार साल पहले लगता था कि मेरी शुरुआत मेरी सबसे कमजोर कड़ी है लेकिन अब लगता है कि मैं इस विभाग में अच्छा कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि अभी मेरा पूरा ध्यान एशियाई खेलों पर है और इसके प्रदर्शन पर मैं अपने भविष्य का फैसला करूंगा कि इसे जारी रखना है या पेशा बदलना है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi