S M L

Asian Games 2018: और कितने मेडल्स की बलि लेगी हिना सिद्धू-मनु भाकर की जंग!

एशियाड में मिक्स्ड टीम में से एक रात पहले मनु को बाहर करके हिना को शामिल करने की हुई थी कोशिश

Updated On: Aug 20, 2018 05:48 PM IST

FP Staff

0
Asian Games 2018: और कितने मेडल्स की बलि लेगी हिना सिद्धू-मनु भाकर की जंग!
Loading...

अभी कुछ ही महीने पहले ऑस्ट्रलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ खेलों में भारतीय शूटिंग की नई स्टार मनु भाकर के प्रदर्शन ने पूरे देश का दिल जीत लिया था. 16 साल की इस युवा पिस्टल शूटर के शानदार शो से नेशनल रायफल ऐसोसिएशन ऑफ इंडिया यानी एनआरएआई को भी पिस्टल शूटिंग में हिना सिद्धू के साथ एक और पोस्टर गर्ल मिल गई लेकिन यहीं से हिना और मनु भाकर के बीच एक ऐसी राइवलरी शुरू हुई जिसकी कीमत शायद भारतीय शूटिंग को एशियम गेम्स में चुकानी पड़ रही है.

दरअसल मनु भाकर बेहतरीन प्रदर्शन बाद एनआरएआई ने उन्हें एशियाड में उनकी नेशनल रैंकिंग के आधार पर उन्हें 10 मीटर एयर पिस्टल के मिक्स्ड इंवेंट में अभिषेक वर्मा के साथ चुना जिसपर हिना सिद्धू ने जोरदार ऐतराज जताया. हालांकि इस मसले को लेकर एनआरएआई के अध्यक्ष रनिंदर सिंह और और खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ तक के पास ले गईं लेकिन उनकी बात नहीं बनी.

अब एशियन गेम्स के पहले ही दिन 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में मिक्स्ड टीम का और खासतौर से मनु भाकर का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा और भारतीय टीम फाइनल राउंड के लिए क्वालिफाइ ही नहीं कर सकी. अब खबर आई है  कि इस मुकाबले से एक रात पहले ही टीम को बदलने की कोशिश की गई थी.

द ट्रिब्यून के मुताबिक इस इवेंट से पहले रात को एनआरएआई ने तय किया कि मिक्स्ड इवेंट में मनु भाकक की बजाय हिना सिद्धू को रेंज पर उतारा जाए. मनु को इस बारे में इत्तला भी दे दी गई लेकिन बाद में अध्यक्ष रनिंदर सिंह को अहसास हुआ कि ऐसा करने से इस किशोर शूटर के मनोबल पर असर पड़ सकता है. लिहाजा अगले दिन मनु भाकर ही रेंज पर उतरीं लेकिन प्रदर्शन बेहद फीका रहा.

पूरी टीम पर पड़ रहा है असर!

दरअसल हिना सिद्धू और मनु भाकर की इस जंग ने भारत की पिस्टल शूटिंग ने उथल-पुथल मचाई हुई है. एनआरएआई ने हिना सिद्धू के पति और कोच रौनक पंडित को पिस्टल और रायफल टीम का ऑब्जर्वर नियुक्त किया हुआ है. वहीं जूनिय़र टीम के कोच और मशहूर शूटर रहे जसपाल राणा मनु भाकर के गुरू माने जाते हैं.

खबर के मुताबिक राणा का कहना है कि साथ कई ऐसी ट्रिक्स  अपनाई जा रही हैं जिनसे भारतीय शूटिंग का नुकसान कर रही है.

manu bhaker anish 1

गोल्ड कोस्ट में ही गोल्ड जीतने वाले एक और नौजवान पिस्टल शूटर अनीश अब जसपाल राणा क् साथ ट्रेनिंग करने की बजाय सीनियर टीम के साथ ट्रेनिंग करते हैं. वहीं 10 मीटर एयर पिस्टल के शूटर सौरभ चौधरी भी जसपाल राणा से दूर जा चुके हैं.

तो कहीं ना कहीं हिना और मनु के बीच की जंग उनक कोचों के बीच की भी जंग बनती दिख रही है जिसका नुकसान देश को मेडल्स के रूप में उठाना पड़ सकता है. अभी एशियाड में पिस्टल शूटिंग के कुछ और मेडल दांव पर हैं देखना होगा यह जंग भारतीय पिस्टल शूटर्स के प्रदर्शन पर कितना असर डालती है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi