S M L

69 मेडल@69 कहानियां: प्रजनेश गुणेश्वरन से उम्मीद तो गोल्ड या सिल्वर की थी, लेकिन मिला ब्रॉन्ज

कहानी 46 : सेमीफाइनल मुकाबले में उज्बेकिस्तान के डेनिस इस्तोमिन ने प्रजनेश को 6-2, 6-2 से हरा दिया

Updated On: Sep 14, 2018 02:31 PM IST

FP Staff

0
69 मेडल@69 कहानियां: प्रजनेश गुणेश्वरन से उम्मीद तो गोल्ड या सिल्वर की थी, लेकिन मिला ब्रॉन्ज

भारत के प्रजनेश गुणेश्वरन ने एशियन गेम्स 2018 में टेनिस के मेंस सिंगल में ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया. हालांकि उनसे गोल्ड या सिल्वर की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन उज्बेकिस्तान के डेनिस इस्तोमिन ने सेमीफाइनल मुकाबले में प्रजनेश को 6-2, 6-2 से हरा दिया. इसी के साथ भारत को मेंस सिंगल में ब्रॉन्ज मेडल से ही संतोष करना पड़ा. अंकिता रैना ने एक दिन पहले महिला सिंगल्स में ब्रॉन्ज मेडल दिलाया था.

सेमीफाइनल मुकाबले में दुनिया के 161वें नंबर के खिलाड़ी प्रजनेश ने करीब 20 गलतियां कीं, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा. डेनिस के आगे प्रजनेश शुरू से ही दबाव में दिखे, जिसरा फायदा उन्होंने उठाया और सीधे सेटों में मैच जीतकर अपनी जगह फाइनल में पक्की कर ली. डेनिस ने इस मैच में चार एस लगाए तो प्रजनेश केवल चार एस ही लगा पाए. हालांकि यह मुकाबला स्कोरलाइन से ज्यादा प्रतिस्पर्धी रहा.

भारत ने इस तरह टेनिस में एक गोल्ड और दो ब्रॉन्ज मेडल के साथ अपना अभियान समाप्त किया. भारत ने पिछले इंचियोन एशियन गेम्स में टेनिस में एक गोल्ड, एक सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल सहित पांच मेडल जीते थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi