S M L

69 मेडल@69 कहानियां: इतिहास का पहला और दूसरा मेडल जीता और अब जरा स्‍कोर भी देख लीजिए

कहानी 59 और 60: भारत ने अपने एशियन गेम्‍स के इतिहास में पहली बार टेबल टेनिस में मेडल जीता

Updated On: Sep 16, 2018 01:10 PM IST

FP Staff

0
69 मेडल@69 कहानियां: इतिहास का पहला और दूसरा मेडल जीता और अब जरा स्‍कोर भी देख लीजिए

इंडोनेशिया के हुए एशियन गेम्‍स में भारत को एक सबसे बड़ी सफलता टेबल टेनिस में भी मिली. भले ही यहां देश को ब्रॉन्‍ज मेडल मिला हो, लेकिन इस ऐतिहासिक मेडल ने देश के आने वाली पीढ़ी को एक राह दिखा दी है कि चीन, जापन, साउथ कोरिया के वर्चस्‍व वाले इस खेल में भारत भी मेडल जीत सकता है. जकार्ता में भारत ने टेबल टेनिस में दो ब्रॉन्‍ज मेडल अपने नाम किए. मेंस टीम और मिक्‍स्‍ड टीम इवेंट का. मेंस टीम इवेंट में साथियान, शरत कमल, एंथोनी अमलराज, हरमीत देसाई और मानव ठक्‍कर की टीम ले शुरुआती राउंड में यूएई को 3-0 से हराया. हालांकि इसके बाद चाइनीज ताइपे ने 2-3 से भारत को हराया. शुरुआती राउंड में इसके बाद मकाउ और वियतनाम को 3-0 से हराकर क्‍वार्टरफाइनल में प्रवेश किया, जिसके बाद माना जा रहा था कि टीम इससे आगे नहीं पहुंच पाएगी, लेकिन भारतीय टीम ने जापान को 3-1 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश करने के साथ ही पदक भी पक्‍का कर लिया.

TABLE TENNIS

हालांकि सेमीफाइनल में भारतीय टीम को साउथ कोरिया ने 0-3 से हरा दिया. शुरुआती राउंड से सेमीफाइनल तक पहुंचने का सफर भारतीय टीम को काफी शानदार रहा. हर जगह टीम ने विपक्षी टीम को कड़ी टक्‍कर दी. यहां भारत ने एशियन गेम्‍स में टेबल टेनिस में भारत को इतिहास का पहला मेडल दिलाया था और इसके बाद इतिहास का दूसरा मेडल भी यहीं पर जीत लिया.

शरत कमल और मनिका बत्रा की जोड़ी ने यहां देश को एक और सफलता दिलाई थी. मिक्‍स्‍ड डबल्‍स में तो इस जोड़ी को राउंड 3-2 से कड़ी चुनौती मिलनी शुरू हो गई थी. इस जोड़ी ने सबसे पहले मलेशियाई जोड़ी को 3-0 से हराकर प्री क्‍वार्टर में प्रवेश किया, जहां उनके सामने साउथ कोरिया की चुनौती थी. शरत और मनिका की जोड़ी ने साउथ कोरियाई जोड़ी को 3-2 से हराया. क्‍वार्टर फाइनल में भारतीय जोड़ी ने नॉर्थ कोरिया की जोड़ी को भी 3-2 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाने के साथ मेडल पक्‍का तो कर ही दिया था. सेमीफाइनल में भारतीय जोड़ी के सामने चीनी जोड़ी थी. हालांकि यहां शरत और मनिका जोड़ी पार ना पा सकी, लेकिन एक बार स्‍कोर जरूर देख लीजिए. 11-6, 11-5, 13-11, 11-4, 11-8 ये है सेमीफाइनल का स्‍कोर. यानी भारतीय जोड़ी ने चीनी जोड़ी को बता दिया था कि पहले की तरह अब वह उन्‍हें आसानी से आगे नहीं जाने देगी. मुकाबला पांच गेम तक चला और हर गेम में एक एक अंक के लिए संघर्ष भी हुआ.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi