S M L

69 मेडल@69 कहानियां: प्रेक्टिस के लिए हर रोज करते थे 100 किमी का सफर, 15 साल की उम्र में जीता सिल्वर

कहानी 26: उनके एशियन गेम्स के सिल्वर इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें ओलिंपिक मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा की तारीफ भी मिली है

Updated On: Sep 04, 2018 04:08 PM IST

FP Staff

0
69 मेडल@69 कहानियां: प्रेक्टिस के लिए हर रोज करते थे 100 किमी का सफर, 15 साल की उम्र में जीता सिल्वर
Loading...

एशियन गेम्स में भारत को शूटिंग का 8वां मेडल दिलाने वाले शार्दुल विहान ने देश का नाम रोशन किया है. 15 साल के इस युवा शूटर ने डबल ट्रैप में देश के लिए सिल्वर मेडल हासिल किया. फाइनल में उन्होंने कोरिया के शिन हयूनवो ने उन्हें 73 के मुकाबले 74 शॉट्स लगाकर गोल्ड मेडल हासिल किया.

मेरठ के रहने वाले इस युवा शूटर ने 7 साल की उम्र में शूटिंग शुरुआत की. शूटिंग से पहले वह क्रिकेटर बनना चाहते थे, लेकिन एक साल क्रिकेट सीखने के बाद उन्होंने उसे छोड़ दिया. इसके बाद उन्होंने शूटिंग को अपनाया.

मेरठ में अच्छी शूटिंग रेंज न होने की वजह से शार्दुल को प्रैक्टिस के लिए रोज दिल्ली जाना पड़ता है. इसके लिए उसे रोज सुबह 4 बजे उठना पड़ता है. दिल्ली आने जाने में उसे रोज करीब 100 किमी का सफर करना पड़ता है. सफर के दौरान उसे थकान भी होती है लेकिन वह अपनी प्रैक्टिस पर नहीं पड़ने देता है. दिल्ली ने वह पूर् एशियन चैंपियन अनवर सुल्तान से ट्रेनिंग लेते है.

साल 2017 में आए सुर्खियों में
शार्दुल विहान ने 61वें नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में एक ही दिन में चार गोल्ड अपने नाम किए थे. इसके बाद वह अचानक सुर्खियों में आ गए थे. उन्होंने तब सीनियर और जूनियर पुरुष डबल ट्रैप का गोल्ड अपने नाम किया था.

उनके एशियन गेम्स के सिल्वर इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें ओलिंपिक मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा की तारीफ भी मिली है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi