S M L

Asian Games 2018: श्रीकांत के पास आलोचकों को जवाब देने का सुनहरा मौका!

साल 2017 में ऐतिहासिक जीत के बाद इस साल श्रीकांत का प्रदर्शन शानदार नहीं रहा है

Updated On: Aug 13, 2018 07:16 PM IST

FP Staff

0
Asian Games 2018: श्रीकांत के पास आलोचकों को जवाब देने का सुनहरा मौका!
Loading...

नाम- के किदांबी श्रीकांत

खेल- बैडमिंटन

जन्म- 07 फरवरी 1993

कैटेगरी- सिंगल्स

पिछला प्रदर्शन - साल 2014 के एशियन गेम्स में वह राउंड ऑफ 16 से बाहर हो गए थे

वर्ल्ड नंबर तीन भारत के के श्रीकांत एशियन गेम्स एक  बड़ी उम्मीद होंगे. आंध्र प्रदेश के गुंटूर के रहने वाले किदांबी श्रीकांत में कड़ी मेहनत करने और सतत आगे बढ़ते रहने का जज्बा है. इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कदम-दर-कदम कामयाबी की सीढ़ी चढ़ते हुए श्रीकांत ने 2017 में आखिरकार इतिहास रच डाला. श्रीकांत ने 2017 के सत्र में चार सुपर सीरीज खिताब अपने नाम किए. इसके साथ ही वह सुपर सीरीज मुकाबलों में सायना नेहवाल के बाद सबसे कामयाब भारतीय खिलाड़ी भी बन गए थे. सायना ने अभी तक आठ सुपर सीरीज मुकाबले जीते हैं. जबकि श्रीकांत ने करियर में कुल छह सुपर सीरीज खिताब जीते हैं. श्रीकांत ने भारतीय पुरुष शटलरों के लिए एक नई मिसाल कायम की. अपने पिछले साल के सफर में उन्होंने लगभग हर बड़े दिग्गज को मात दी है. अपने कोच गोपीचंद और बैडमिंटन खिलाड़ी लिन डन को अपनी प्रेरणा मानने वाले श्रीकांत इस बार एशियन गेम्स भी इतिहास रचने को तैयार हैं.

Badminton - Gold Coast 2018 Commonwealth Games - Mixed Team Gold Medal Match - India v Malaysia - Carrara Sports Arena 2 - Gold Coast, Australia - April 9, 2018. Srikanth Kidambi of India in action. REUTERS/Athit Perawongmetha - UP1EE490PCJHP

श्रीकांत ने 2017 में इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलियाई, डेनमार्क और फ्रेंच ओपन खिताब जीता. जबकि एक टूर्नामेंट में वह उप विजेता रहे. उनसे पहले महान खिलाड़ी लिन डैन, ली चोंग वेई और चेन लोंग ही यह उपलब्धि हासिल कर पाए हैं. श्रीकांत ने ऑस्ट्रेलियन ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में मौजूदा ओलंपिक और विश्व चैंपियन चीन के चेन लोंग को सीधे सेटों में हराकर तहलका मचा दिया था. ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में श्रीकांत ने वो करिश्मा कर दिखाया जो वो पहले कभी नहीं कर पाए थे. चेन लोंग के साथ ये उनका छठा मुकाबला था और श्रीकांत पहली बार उनसे कोई मुकाबला जीते. अपने इस प्रदर्शन से वह विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंचे और दुबई फाइनल्स में जगह बनाई.

हालांकि साल 2018 में वह अब तक कोई खास कमाल करने में नाकाम रहे हैं. कॉमनवेल्थ गेम्, 2018 में मलेशिया ओपन में वह सेमीफाइनल में केंतो मोमोटा से हारे थे. इसके बाद खेले गए इंडिनेशिया ओपन के पहेल राउंड में ही उनता सामना केंतो मोमोटा से हुआ और एक बार फिर वह उनसे पार नहीं पा सके. जुलाई में खेली गई वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी उनका प्रदर्शन औसत था और वो राउंड ऑफ 16 से ही बाहर हो गए थे. ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में भी वह क्वाटरफाइनल में जगह नहीं बनाए थे. फिर भी भारतीय खेमे को उनसे बहुत उम्मीदें होगी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi