S M L

जल्द ही जिंदगी की नई पारी की शुरुआत करेंगी दीपिका, ढूंढ रही हैं सही हमसफर

तीरंदाज दीपिका के घरवाले अब उनकी शादी करना चाहते हैं और दीपिका के लिए सही हमसफर ढूंढ रहे हैं

Brajesh Roy Updated On: Jan 29, 2018 11:06 AM IST

0
जल्द ही जिंदगी की नई पारी की शुरुआत करेंगी दीपिका, ढूंढ रही हैं सही हमसफर

बहुत ही गरीब परिवार में जन्म लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने वाली तीरंदाज गोल्डन गर्ल दीपिका कुमारी अब नई पारी की तैयारी में जुट गई हैं.  सांवली सलोनी दीपिका का अगला लक्ष्य है अपने लिए एक सटीक जीवन साथी को तलाशना. बस शर्त इतनी सी है कि हमसफर दीपिका के लिए सपोर्टिंग नेचर का होना चाहिए मतलब साफ है इस पोस्ट के जरिये एलेजिबल बैचलर प्रयास कर सकते हैं.

मां-बाप को सताने लगी है शादी की फिक्र 

13 जून 1994 को रांची के एक छोटे से गांव रातू में जन्मी दीपिका कुमारी अब 23 वसंत पार कर चुकी हैं. ऑटो ड्राइवर की बेटी दीपिका अब अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज हैं. फिर भी मां गीता देवी और पिता शिव नारायण प्रजापति को अब बिटिया के हाथ पीले करने की फिक्र सताने लगी है. यह अलग बात है कि आज दीपिका को चाहने वालों की संख्या शायद लाखों पार हो. फिर भी मां पिता मानने लगे हैं कि बिटिया बड़ी हो गई है. घर में बहन विद्या और भाई दीपक से बड़ी दीपिका को भी यह बखूबी एहसास है कि वो बड़ी हो गई है .

Dipika Faimly

दीपिका ने भी शर्माते हुए कहा ‘हम संस्कार में जीने वाले हैं. बेटी बड़ी हो जाती है तो मां-पापा को उसकी शादी की चिंता सताने लगती है. मेरे घर में भी अब यही माहौल है. हां, मैं चाहूंगी कि मेरा जीवन साथी मुझे सपोर्ट करने वाला हो. अभी आगे लंबा सफर तय करना बाकी है. फिलहाल तो निराशा से निकलकर मैं अगले ओलिंपिक की तरफ देख रही हूं.’

लक्ष्य पर निशाना साधने की तत्परता आज भी है

महिला तीरंदाजी के जरिए देश को पहचान देने वाली अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित दीपिका कुमारी का लक्ष्य फिलहाल ओलिंपिक है. पिछले ओलिंपिक में अपने निराशाजनक प्रदर्शन से ये अब बाहर निकल चुकी हैं. अपनी तैयारियों को लेकर भी दीपिका अब भरोसेमंद हैं. कहती भी हैं कि मेहनत के साथ परिस्थितियां और भाग्य का भी बड़ा हाथ होता है सफलता में. यह सही भी है, एक निम्न मध्यम वर्गीय परिवार की दीपिका कुमारी ने हमेशा अपने जज्बे को बरकरार रखा है. टाटा आर्चरी एकादमी से जुड़ी दीपिका ने महिला तीरंदाजी में हमेशा देश का नाम रोशन किया है. कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुकी दीपिका फिलहाल 2018 एशियन गेम और कॉमनवेल्थ खेल को अपने लक्ष्य पर रख रही है. साथ ही, 2012 और 2016 ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर चुकी विश्व की वर्तमान 5वीं रैंक की खिलाड़ी दीपिका 2010 टोक्यो ओलिंपिक के लिए अपने को हर तरह से तैयार भी कर रही है .

जल्द ही सिल्वर स्क्रीन पर दिखेगी दीपिका

गोल्डन गर्ल विश्व की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी दीपिका जल्द ही सिल्वर स्क्रीन पर दिखेंगी. जी हां, मशहूर फिल्म मेकर सुरेश सेठ भगत की नई फिल्म ‘डायन बिसाही’ में दीपिका लीड रोल में नजर आएगी. देश दुनिया और खास तौर पर दीपिका के गृह राज्य झारखंड में आज भी हर साल कई महिलाएं डायन बिसाही के आरोप में मार दी जाती हैं. बस यही थीम तीरंदाज दीपिका को भा गई. दीपिका को जब फिल्मकार ने उसकी भूमिका के विषय में बताया तो उसने आखिरकार अपनी सहमति दे दी .

Jamshedpur: National Champion Deepika Kumari displays her gold medal after she retained the title at the 34th Senior National Archery Championship at JRD Tata Sports Complex in Jamshedpur on Wednesday. PTI Photo (PTI12_25_2013_000123B)

वैसे दीपिका को जन जागरूकता के लिए झारखंड सरकार ने अपना ब्रांड एम्बेस्डर भी बना रखा है. दीपिका की मानें तो इस फिल्म शूटिंग इसी साल मार्च के मध्य से शुरू हो जाएगी और जल्द ही पूरी भी कर ली जाएगी. गौरतलब है कि झारखंड में ही इस फिल्म का ज्यादा हिस्सा शूट होगा जिसमें दीपिका के अलावा स्थानीय कलाकारों को भी मौका मिलेगा .

चाहत है कि उसकी बायोपिक पर भी फिल्म बने

डायन बिसाही में अपनी भूमिका को लेकर बेहद उत्साहित तीरंदाज दीपिका कुमारी की चाहत हैं कि उसकी भी बायोपिक क्रिकेट स्टार धोनी की तरह सिल्वर स्क्रीन पर देखी जाए. रांची के राजकुमार क्रिकेट के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बायोपिक 'धोनी अनटोल्ड स्टोरी' को दर्शकों ने खूब पसंद किया है. धोनी की तरह भी दीपिका के जीवन में कई फ्लेवर रहा है. संघर्ष और गरीबी को दरकिनार करते हुए दीपिका ने भी सफलता के जिस मुकाम को छुआ है वो कितनों के लिए अनुकरणीय हो सकता है.

बड़ी जिम्मेदारी और चुनौती भी है अब दीपिका के सामने

फिल्म, शादी और खेल में लय को बरकरार रखना अब बड़ी चुनौती है दीपिका कुमारी के लिए. यानी कुल मिलाकर बात की जाए तो कहा जा सकता है कि बड़ी हो चली दीपिका के सामने इस बार एक नहीं फिलहाल तीन तीन लक्ष्य है, खेल फिल्म और शादी. अब देखना सही में दिलचस्प होगा कि तीरंदाज दीपिका एक साथ अपने जीवन के वर्तमान तीनों लक्ष्य पर निशाना कैसे साधती है और निशाना लक्ष्य पर कितना सटीक लगता है. बहरहाल है दीपिका कुमारी के लिए शुभकामनाएं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi