S M L

कॉमनवेल्थ के बाद एशियन गेम्स में भी साड़ी में नहीं दिखेंगी भारतीय महिला एथलीट

बड़े मुकाबले में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली महिला खिलाड़ियों के लिए भारतीय ओलिंपिक संघ की तरफ यह फैसला कॉमनवेल्थ गेम्स में किया गया था

FP Staff Updated On: May 26, 2018 12:51 PM IST

0
कॉमनवेल्थ के बाद एशियन गेम्स में भी साड़ी में नहीं दिखेंगी भारतीय महिला एथलीट

कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद अगस्त में इंडोनेशिया में होने वाले एशियन गेम्स के उद्घाटन और समापन समारोह में भी भारतीय महिला एथलीट भारतीय परिधान साड़ी में नहीं दिखेंगी. कॉमनवेल्थ गेम्स के वक्त लिए अपने इस फैसले को कायम रखते हुए एशियन गेम्स में भी कॉमनवेल्थ के ही ड्रेस कोड को लागू रखने का फैसला किया गया है. समारोह के लिए पुरुष और महिला खिलाड़ियों दोनों का ही ड्रेस कोड एक जैसा ही रखा गया है. उद्घाटन समारोह में भारतीय दल नेवी ब्ल्यू ब्लेजर और ट्राउजर में नजर आएगा.

बड़े मुकाबले में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली महिला खिलाड़ियों के लिए भारतीय ओलिंपिक संघ की तरफ यह फैसला कॉमनवेल्थ गेम्स में किया गया था. ओलिंपिक, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियाड जैसे बड़े स्तर की प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में जहां पहले उन्हें पारंपरिक परिधान साड़ी के साथ वेस्टर्न ब्लेजर पहनना पड़ता था, वहीं अप्रैल में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए अब उनके ड्रेस कोड को बदल दिया गया था.

हालांकि उस वक्त सायना नेहवाल और पीवी सिंधु जैसे एथलीट इस फैसले के पक्ष में नहीं थे. तब आईओए ने साफ किया था कि ऐसा खिलाड़ियों के आराम को देखकर लिया गया था. महिला एथलीटों का मानना था कि साड़ी पहनने के लिए उन्हें मदद की जरूरत होती हैं. साड़ी के मुकाबले ब्लेजर और ट्राउजर आरामदायक रहते हैं. आईओए के सेक्टरी जनरल राजीव मेहता ने इस फैसले की पुष्टि की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi