S M L

आज तक मैंने रिटायरमेंट जैसा शब्द अपनी जुबां से नहीं निकाला : मैरीकॉम

गोल्ड कोस्ट में इतिहस रचने के बाद स्वदेश लौटी भारतीय मुक्केबाजी टीम का मंगलवार को सम्मान किय गया

Updated On: Apr 17, 2018 07:11 PM IST

Kiran Singh

0
आज तक मैंने रिटायरमेंट जैसा शब्द अपनी जुबां से नहीं निकाला : मैरीकॉम

शूटिंग और रेसलिंग के बाद भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में बॉक्सिंग में अपना बेहतर प्रदर्शन किया. भारत की ओर से 12 मुक्केबाज गोल्ड कोस्ट गए थे, जिनमें से 9 के नाम मेडल है. 3 गोल्ड, 3 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज भारत के बाक्सर्स ने जीते. गोल्ड कोस्ट में अपना दमखम दिखाने के बाद भारतीय मुक्केबाज अपने देश लौटे, जहां दिल्ली में मंगलवार को उनका सम्मान किया. इस मौके पर बॉक्सिंग फैडरेशन आॅफ इंडिया के अध्यक्ष अजय सिंह, अपने पहले कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाली पांच बार की विश्व चैंपियन एमएसी मैरीकॉम, गौरव सोलंकी और विकास कृष्ण यादव सहित सभी मुक्केबाज मौजूद थे.

ओलिंपिक गोल्ड मेडल जीतना है लक्ष्य

ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट मैरीकॉम ने कहा कि सपोर्ट स्टाफ, कोचेज में मुझ पर विश्वास किया, मैं लंबे समय से इस मेडल को जीतना चाहती थी और मैं काफी खुश हूं कि आखिरकार मैंने यह कर ही लिया. उन्होंने अपनी जीत को अपने बच्चो और प्रशंसकों को समर्पित करते हुए कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं आगे भी अपने देश के लिए मेडल जीतूंगी.

मैंने कभी खुद नहीं कहा रिटायरमेंट के बारे में

रिटायरमेंट के बारे में मैरीकॉम ने कहा कि यह सब बस एक अपवाह है और मैंने आज तक अपनी जबान से इस शब्द को निकाला भी नहीं, मैं अभी पूरी तरह से फिट हूं और रिटारमेंट के बारे में कोई प्लानिंग नहीं हैं.

 

New Delhi: Boxers, who won medals at the Commonwealth Games, with President, Boxing Federation of India (BFI), Ajay Singh and others at a felicitation ceremony in New Delhi on Tuesday. PTI Photo by Shahbaz Khan (PTI4_17_2018_000138B)

ओलिंपिक गोल्ड का जीतना बाकी

पांच बार विश्व चैंपियन, एशियाड, कॉमलवेल्थ गेम्स और ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम करने वाली मैरी ने पूछने पर बताया कि ओलिंपिक में गोल्ड जीतने का सपना अभी पूरा नहीं हुआ है और अब उनकी नजर टोक्यो ओलिंपिक पर है कि वहां पर इस अधूरे सपने को पूरा किया जाए.

अगले सप्ताह से एशियाड की तैयारी शुरू

कॉमनवेल्थ गेम्स में अच्छे प्रदर्शन के बाद भारतीय मुक्केबाजों से अगस्त में होने वाले एशियन गेम्स में भी इसी प्रदर्शन की उम्मीद की जाने लगी है, जिसे ध्यान में रखते हुए बाक्सर्स अगले सप्ताह से इस अभियान के लिए तैयारियों में जुट जाएंगे। फैडरेशन के अध्यक्ष ने बताया कि अगले सप्ताह मैन्स टीम सार्बिया जाएंगे, जहां उनकी तैयारियों को मजबूत मिलेगी. इसके अलावा वीमन चैंपियनशिप के लिए उनकी फिटनेस पर ध्यान दिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi