S M L

आईएसएल 2018-19 : दिल्ली डायनामोज और चेन्नइयन एफसी की नजर पहली जीत पर

दोनों टीमें मंगलवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आमने-सामने होंगी और दोनों का प्रयास पिछली नाकामी को भूलकर तीन अंक हासिल करना होगा

Updated On: Oct 22, 2018 05:53 PM IST

FP Staff

0
आईएसएल 2018-19 : दिल्ली डायनामोज और चेन्नइयन एफसी की नजर पहली जीत पर
Loading...

दिल्ली डायनामोज और मौजूदा चैंपियन चेन्नइयन एफसी का इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में जीत का खाता अब तक नहीं खुला है. दोनों टीमें मंगलवार को नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आमने-सामने होंगी और दोनों का प्रयास पिछली नाकामी को भूलकर तीन अंक हासिल करना होगा.

दिल्ली की टीम ने अपने अंतिम मैच में केरल ब्लास्टर्स के साथ कोच्चि में आंद्रिज्का कालूडेरोविक द्वारा अंतिम समय में किए गए गोल की मदद से ड्रॉ खेला था. अपने पहले मैच में भी उसने अपने घर में एफसी पुणे सिटी से 1-1 से ड्रॉ खेला था, लेकिन इसके बाद उसे एटीके के हाथों 1-2 से हार मिली थी. कोच जोसेफ गोम्बाउ मानते हैं कि उनकी टीम के खाते में दो अंक हैं, लेकिन उसे अधिक से अधिक अंकों की जरूरत है.

गोम्बाउ ने कहा, ‘हमारी टीम नई है. हम नई शैली की फुटबॉल खेलने की कोशिश कर रहे हैं. यह एक दिन में संभव नहीं है. मैं समझता हूं कि हम दो अंकों से अधिक के हकदार हैं क्योंकि हमारे पास मैच जीतने का मौका था.’

गोल करने की नाकामी चिंता का सबब 

ऐसे में जबकि लालियानजुआला चांग्ते और रोमियो फर्नांडेज ने अपने स्तरीय खेल की झलक दिखानी शुरू कर दी है. गोल करने की नाकामी हालांकि उनके कोच के लिए चिंता का सबब है. दिल्ली ने तीन मैचों में अनगिनत बार मौका बनाए हैं, लेकिन वह सिर्फ तीन गोल कर सका है.  इस मैच में दिल्ली को अपने प्रभावशाली मिडफील्डर मार्कोस तेबार की सेवाएं नहीं मिल सकेंगी क्योंकि वह हैमस्ट्रिंग इंजरी से उबर रहे हैं. कोच ने कहा, ‘अहम बात यह है कि हम अच्छी फुटबॉल खेल रहे हैं. हमने मौके बनाए हैं और जब हम उन्हें भुनाना शुरू कर देंगे, तब हम जीतना भी शुरू कर देंगे.’

पिछले साल की परछाई भी नजर नहीं आ रही चेन्नइयन

चेन्नइयन एफसी ने इस साल मार्च में आईएसएल का दूसरा खिताब जीता था, लेकिन इस सीजन में वह अपनी पिछले साल की परछाई भी नजर नहीं आ रही है. धनपाल गणेश की अनुपस्थिति में कोई भी मिडफील्डर नियंत्रण कायम नहीं कर सका है. अनिरुद्ध थापा और जर्मनप्रीत सिंह बिल्कुल नाकाम रहे हैं.

चेन्नइयन एफसी के कोच जॉन ग्रेगोरी ने कहा, ‘आप हमेशा इस बात का कारण खोजेंगे कि हमने मनमाफिक शुरुआत क्यों नहीं की, लेकिन मेरा मानना है कि मेरे खिलाड़ियों ने सभी तीन मैचों में खूब मेहनत की है. खेल के प्रति उनका रवैया क्या है, उसे लेकर मुझे कोई भी पेरशानी नही है. हम अब तक सफल नहीं हो सके हैं क्योंकि हमने रक्षापंक्ति में कुछ गलतियां की हैं. हमने निश्चित तौर पर बड़ी गलतियां की हैं. ये गलतियां हमने बीते सीजन के 18 मैचो में बिल्कुल नहीं की थीं.’

कोच को है कठिन मुकाबले की उम्मीद

चेन्नइन एफसी एकमात्र ऐसी टीम है, जो इस सीजन में अपने शुरुआती तीन मैच हार चुकी है और ग्रेगोरी को अपनी टीम को लय में लाने के लिए प्रेरणा का डोज देना होगा. जहां तक दिल्ली के खिलाफ होने वाले मैच की बात है तो चेन्नइयन एफसी के लिए यह मैच भी आसान नहीं होने वाला है. ग्रेगोरी ने कहा, ‘हम निश्चित तौर पर जानते हैं कि हम दिल्ली के खिलाफ खेल रहे हैं. इस टीम के पास मेरे कुछ पुराने खिलाड़ी हैं. रेने मिहेलिक और बिक्रमजीत सिंह ने बीते सीजन में हमारे साथ स्वर्ण पदक जीता था. हम एक कठिन मुकाबले की उम्मीद कर रहे हैं.’

 

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi