S M L

ISL 2018-19: जीत की लय बरकरार रखना चाहेगी दिल्‍ली और पुणे

दोनों टीमें सबकुछ गंवाने के बाद होश में आई हैं और प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने के बाद जीत की लय में लौटीं

Updated On: Feb 23, 2019 08:42 PM IST

FP Staff

0
ISL 2018-19: जीत की लय बरकरार रखना चाहेगी दिल्‍ली और पुणे

दिल्ली डायनामोज और एफसी पुणे सिटी हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन की दो ऐसी टीमे हैं, जो सबकुछ गंवाने के बाद होश में आई हैं. प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने के बाद जीत की लय में लौटीं ये दोनों टीमें जब रविवार को श्री शिव छत्रपति स्पोटर्स कॉम्पलेक्स में आमने-सामने होंगी तो दोनों का लक्ष्य सम्मान की खातिर जीत की लय जारी रखने की होगी.

पुणे की टीम शुरुआती दौर में खराब खेलने के बाद अब काफी बेहतरीन लय में है और छह मैचों से अजेय है. अब उसके सामने लीग में पांचवें स्थान पर फिनिश करने का है और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिल्ली को हराकर वह पूरे तीन अंक हासिल करना चाहेगी. पुणे सिटी के पूर्व कोच फिल ब्राउन ने इस टीम के साथ रहते हुए दो जीत और दो ड्रॉ का स्वाद चखा है. उनका काउंटर अटैक का स्टाइल काफी अच्छा चल रहा है और इससे टीम को अपक्षित परिणाम मिल रहा है.

ब्राउन ने कहा कि हमने काफी मेहनत की है. विपक्षी टीम को पढ़ा है. हमने जाना है कि वे कैसे खेलते हैं. उनकी कमजोरियां और मजबूतियां क्या हैं. हम जानते हैं कि दिल्ली की टीम किस चीज में अच्छी है. हम यह भी जानते हैं कि दिल्ली किस चीज में अच्छी नही है. तो आशा है कि ये सब बातें हमें जीत दिलाने में अहम साबित होंगी.  मार्सेलिन्हो. रोबिन सिंह, इयान ह्यूम और मार्को स्टैनकोविक जैसे खिलाड़ी पुणे की रीढ़ रहे हैं और इनकी बदौलत ब्राउन दिल्ली को काफी परेशानी में डाल सकते हैं.

Players warming up during match 79 of the Hero Indian Super League 2018 ( ISL ) between Delhi Dynamos FC and Bengaluru FC held at Jawaharlal Nehru Stadium, New Delhi, India on the 17th February 2019 Photo by: Arjun Singh /SPORTZPICS for ISL

दिल्ली के मुख्य कोच जोसेप गोम्बोउ को इस बात का अच्छी तरह आभास है कि पुणे की आक्रमण पंक्ति गम्भीर खतरे पैदा करेगी. गोम्बोउ ने कहाकि पुणे ने क्रिसमस के बाद से अच्छा प्रदर्शन किया है. इस टीम का अटैक काफी अच्छा है. इस टीम ने कई सारे गोल किए हैं. हमारे लिए इस टीम की आक्रमण पंक्ति को रोकना काफी चुनौतीपूर्ण होगा.

पुणे के लिए हालांकि चिंता का सबब यह है कि उसे अपने अटैकिंग मिडफील्ड आदिल खान के बगैर खेलना होगा, जो इस मैच के लिए निलम्बित हैं. दिल्ली की टीम ने अपने पिछले मैच में बेंगलुरू एफसी को 3-2 से हराया था और वह भी पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए जीत हासिल की थी. नए खिलाड़ी उलिसि डेविला ने टीम के लिए गोल किया था जबकि युवा फॉरवर्ड डेनिएल लालहिम्पुइया ने भी दो गोल करते हुए अपनी टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

गोम्बोउ की टीम टॉप-6 में जगह बनाना चाहेगी, लेकिन इसके लिए उसे पुणे को हराना होगा. यह टीम सुपर कप से पहले अपने लिए तालिका में सम्मानजनक स्थान हासिल करने के लिए अपना पूरा दमखम झोंकना चाहेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi