S M L

आईएसएल 2018-19: मुंबई के पास है लीग में अपना सबसे शानदार प्रदर्शन करने का मौका

गोवा के खिलाफ पांच गोल खाने के बाद मुंबई की डिंफेंस में काफी सुधार आया है और तब से लेकर अब तक उसने सिर्फ दो गोल खाए हैं

Updated On: Dec 06, 2018 08:27 AM IST

FP Staff

0
आईएसएल 2018-19: मुंबई के पास है लीग में अपना सबसे शानदार प्रदर्शन करने का मौका

हीरो इंडियन सुपर लीग के पांचवें सीजन में मुंबई सिटी एफसी का अब तक का सफर शानदार रहा है लेकिन जॉर्ज कोस्टा की इस टीम को अभी भी काफी काम करना है. अब जबकि उसका सामना अपने घरेलू मैदान मुंबई फुटबॉल एरेना में चेन्नइयन एफसी से होना है, मुंबई की टीम अपना अजेय क्रम बरकरार रखना चाहेगी.

बीते पांच मैचों में से चार में मुंबई ने जीत हासिल की है. एक मैच ड्रॉ रहा है. अगर वह खराब दौर से गुजर रही चेन्नइयन एफसी को हराने में सफल रही तो यह आईएसएल इतिहास में उसका अब तक का सबसे अच्छा अजेय क्रम होगा. गोवा के खिलाफ पांच गोल खाने के बाद मुंबई की डिंफेंस में काफी सुधार आया है और तब से लेकर अब तक उसने सिर्फ दो गोल खाए हैं. रिटायरमेंट के बाद गौतम गंभीर के लिए क्या है शाहरुख खान की सलाह! गोवा से मिली करारी हार के बाद मुंबई की टीम काफी बदली हुई दिखी है. इसमें विदेशी खिलाड़ियों का काफी योगदान रहा है क्योंकि उन्होंने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है. कोस्टा ने कहा, ‘हमने बीते सीजन की तुलना में काफी कुछ बदला है. हमें इस सीजन की शुरुआत में अधिक समय नहीं मिला. हमें व्यवस्थित होने के लिए समय चाहिए था. अब हम स्थिर हो चुके हैं और हमारा लक्ष्य सिर्फ और सिर्फ तीन अंक हासिल करने के लिए प्रयास करते रहना है.’

Chennaiyin FC players practise before the start of the match 46 of the Hero Indian Super League 2018 ( ISL ) between Chennaiyin FC and ATK held at the Jawaharlal Nehru Stadium, Chennai, India on the 2nd December 2018 Photo by: Vipin Pawar /SPORTZPICS for ISL

कोस्टा की टीम में पाउलो माचादो मिडफील्ड में अहम कारक बनकर उभरे हैं और राइट फ्लैंत में अर्नाल्ड इसोको ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए विपक्षी डिफेंडरों को खूब परेशान किया है. मोडोउ सोगोउ चेन्नई में मिली 1-0 की जीत के बाद स्कोरशीट पर अपना नाम नहीं दर्ज करा पाए हैं लेकिन गुरुवार को होने वाले मुकाबले के माध्यम से वह एक और गोल अपने खाते में डालना चाहेंगे.

ऐसा इसलिए क्योंकि हर टीम ने चेन्नइयन के खिलाफ खूब गोल किए हैं और चेन्नइयन के खिलाफ हुए गोलों की संख्या 19 पहुंच चुकी है.

इस अहम मैच से पहले चेन्नई के कोच जॉन ग्रेगोरी ने भी मुंबई टीम की तारीफ की है. ग्रेगोरी ने कहा, ‘मैं समझता हूं कि मुबंई की टीम संतुलित है. अर्नाल्ड अच्छा खेल रहे हैं. माटियास मिराबाजे भी अच्छे हैं लेकिन वह जल्दी-जल्दी चोटिल होते हैं. मैं कप्तान लूसियान गोइयान को भी पसंद करता हूं. मुंबई की ताकत टीमवर्क में है. इस टीम के पास कोई कमजोर कड़ी नहीं है. यह काफी संतुलित है.’

मौजूदा चैम्पियन चेन्नई के लिए यह सीजन काफी खराब रहा है. उसे शुरुआती 10 मैचों से सिर्फ पांच अंक मिल सके हैं. अभी उसे आठ मैच और खेलने हैं. ऐसे में ग्रोगोरी मानते हैं कि टॉप-4 में पहुंचने के लिए उनकी टीम को किसी चमत्कार का इंतजार होगा.

Mailson Alves of Chennaiyin FC and Carlos Salom of Chennaiyin FC warm up before the start of the match 46 of the Hero Indian Super League 2018 ( ISL ) between Chennaiyin FC and ATK held at the Jawaharlal Nehru Stadium, Chennai, India on the 2nd December 2018 Photo by: Vipin Pawar /SPORTZPICS for ISL

कोच ने कहा, ‘हमें अपने बाकी बचे सभी मैच जीतने होंगे. इसी से हमारे आगे जाने की संभावनाओं को बल मिल सकता है. फुटबॉल में कुछ भी असंभव नहीं. हमें अब हर मैच में तीन अंकों के लिए खेलना होगा क्योंकि यह हमारे आगे के सफर के साथ-साथ हमारी मर्यादा का भी सवाल है.’

मेरिना मचान्स नाम से मशहूर यह टीम काफी दबाव में है. इसके कई बड़े स्टार चल नहीं सके हैं. जेजे लालपेखलुवा के लिए यह आईएसएल का अब तक का सबसे खराब सीजन है. इसके अलावा जेरी लालरिंजुआला भी अच्छा नहीं खेल रहे हैं. इससे फॉरवर्ड पंक्ति का काम प्रभावित हो रहा है.

मोहम्मद रफी एक अनुभवी स्ट्राइकर हैं और ग्रेगोरी अगले कुछ मैचों मे उन्हें मौका देने के बारे में सोच सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi