S M L

आईएसएल 2018-19: बेंगलुरु के विजयी अभियान को रोकना होगा एटीके का लक्ष्य

बेंगलुरु एफसी लीग तालिका में टॉप पर है और अब गुरुवार को उसका सामना दो बार के चैंपियन एटीके के साथ होना है

Updated On: Dec 12, 2018 06:43 PM IST

FP Staff

0
आईएसएल 2018-19: बेंगलुरु के विजयी अभियान को रोकना होगा एटीके का लक्ष्य

बेंगलुरु एफसी ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में अब तक एक भी मैच नहीं गंवाया है. यह टीम निश्चित तौर पर 2019 एशियन कप के लिए होने वाले ब्रेक पर जाने से पहले अजेय रहना चाहेगी. बेंगलुरु एफसी लीग तालिका में टॉप पर है और अब जबकि गुरुवार को उसका सामना अपने घरेलू मैदान-श्री कांतिरावा स्टेडियम में दो बार के चैंपियन एटीके के साथ होना है, सुनील छेत्री की कप्तानी में खेल रही यह टीम शीर्ष पर अपनी उपस्थिति और मजबूत करना चाहेगी.

सभी की निगाहें जॉन जॉनसन पर होंगी, जिन्होंने एक लंबा समय इस टीम के साथ बिताया है और सात ही साथ युजेंसेन लिंगदोह पर भी होंगी, जिन्होंने बेंगलुरु को तीन सीजन तक सेवाएं दी हैं. जॉनसन अब एटीके के अहम सदस्य हैं लेकिन लिंगदोह को एटीके के लिए इस सीजन में सिर्फ 23 मिनट मैदान पर बिताने का मौका मिला है. बेंगलुरु एफसी को हालांकि जॉनसन और लिंगदोह की गैरमौजूदगी से कोई असर नहीं पड़ा है. लीग में इस टीम का डिफेंस सबसे कंजूस है. इस टीम के डिफेंस ने सिर्फ नौ गोल खाए हैं और अल्बर्ट सेरान तथा जुआनन बैकलाइन पर जबरदस्त साझेदारी निभाते हैं.

ATK team practise session during match 52 of the Hero Indian Super League 2018 ( ISL ) between NorthEast United FC and ATK held at the Indira Gandhi Athletic Stadium, Guwahati, India on the 8th December 2018 Photo by Saikat Das /SPORTZPICS for ISL

मिडफील्ड में हर्मनजोत खाबरा निलंबन के कारण एटीके के खिलाफ नहीं खेलेंगे. इससे कुआडार्ट को तीन विदेशी खिलाड़ियों-एरिक पार्टालू, जिस्को हर्नांदेज औ्र दिमास डेल्गाडो को खिलाना होगा और बियोथांग होआकिप को मौका देना होगा.

एटीके ने अपने पिछले मैच में गुवाहाटी में नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी को गोलरहित बराबरी पर रोका था. असल में चार में से उसके तीन मुकाबले गोलरहित ड्रॉ पर खत्म हुए हैं. यह टीम इस सीजन में गोल पर 100 से कम शॉट्स लगा पाई है. दिल्ली की टीम ही इससे नीचे है.

अब जबकि उसका सामना बेंगलुरू से होना है, जिसका बैकलाइन काफी मजबूत है, एटीके को नई तरह की चुनौतियों का सामना करना होगा. कोकोपेल की टीम के पास अच्छे डिफेंडर हैं. जॉनसन, आंद्रे बिके, गेरसन विएरा और प्रणॉय हल्धर को छका पाना किसी टीम के लिए आसान नहीं. वैसे बेंगलुरू की टीम ने इन दोनों के बीच हुए पहले मुकाबले में 2-1 से जीत हासिल की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi