live
S M L

इंडियन सुपर लीग :  शुरुआती मैच में भिड़ेंगे एटीके और केरल ब्लास्टर्स

नए रूप में होगा चौथे सत्र का आगाज, अधिक टीमें और घरेलू खिलाड़ी अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ने को होंगे बेताब

Updated On: Nov 16, 2017 10:30 PM IST

Bhasha

0
इंडियन सुपर लीग :  शुरुआती मैच में भिड़ेंगे एटीके और केरल ब्लास्टर्स

फीफा के किसी टूर्नामेंट की पहली बार मेजबानी के बाद देश में फुटबॉल की बढी हुई लोकप्रियता को भुनाने की कवायद में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सत्र का शुक्रवार को आगाज होगा, जिसमें नए रूप में अधिक टीमें और घरेलू खिलाड़ी अपने प्रदर्शन की छाप छोड़ने को बेताब होंगे. आईएसएल अब चार महीने तक खेला जाएगा, जबकि पिछले तीन सत्र में यह दो महीने तक ही चलता था.

गत चैंपियन एटलेटिको डी कोलकाता (एटीके) और केरल ब्लास्टर्स शुक्रवार को कोच्चि में शुरुआती मैच खेलेंगे. इसी मैदान पर 2016 में फाइनल खेला गया था जिसमें केरल ब्लास्टर्स को एटीके ने हराया था.

देश की शीर्ष फुटबॉल लीग के विजेता को एएफसी कप में सीधे प्रवेश मिलेगा. अब देखना यह है कि पिछले महीने अंडर-17 विश्व कप की मेजबानी से फुटबॉल में लोगों की दिलचस्पी जो बढी है, उसका यह लीग कितना फायदा उठा सकती है.

इस सत्र में दो नई टीमें टाटा समूह की जमशेदपुर एफसी और बेंगलुरु एफसी को भी जोड़ा गया है. बेंगलुरु ने आई लीग छोड़कर आईएसएल में प्रवेश किया है. क्रिकेट के दीवाने देश में फुटबॉल को लोकप्रिय बनाने की कवायद में शुरू की गई आईएसएल को एशियाई फुटबॉल परिसंघ से मान्यता मिलने के बाद उनका यह कदम उठाना लाजिमी था. भारतीय फुटबॉल में पेशेवरपन की मिसाल मानी जाने वाली बेंगलुरु एफसी आई लीग की सबसे सफल टीम रही है जिसने दो बार खिताब जीता और एक बार उपविजेता रही.

इस बार आईएसएल में अधिक भारतीय खिलाड़ी, अधिक टीमें, अधिक मैच और अधिक समय है. इसके अलावा इस बार मार्की खिलाड़ी के साथ करार की बाध्यता भी खत्म कर दी गई है. इसी के तहत विश्व कप विजेता स्टार अलेजांद्रो देल पियरो,  मार्को मातेराज्जी और राबर्टो कार्लोस इस लीग से जुड़े थे.

आईएसएल में विदेशी खिलाड़ियों की संख्या कम कर दी गई है. लेकिन एटीके में अभी भी मैनचेस्टर युनाइटेड के पूर्व खिलाड़ी दमितार बरबातोव और टोटेनहाम हाट्स्पर के पूर्व फारवर्ड रॉबी कीन शामिल हैं. अब फोकस घरेलू खिलाड़ियों पर आ गया है जिसके तहत छह भारतीयों को टीम में रखना जरूरी है. कोचों के मामले में अभी भी विदेशियों का बोलबाला है. इनमें एटीके के कोच टैडी शेरिंघम और दिल्ली डायनामोस के कोच रियाल मैड्रिड के पूर्व मिडफील्डर मिगुल एंजेल पोर्तुगाल शामिल हैं.

अन्य टीमों में चेन्नइयन एफसी,  मुंबई सिटी एफसी, एफसी पुणे सिटी,  नार्थ ईस्ट युनाइटेड एफसी और एफसी गोवा शामिल हैं. फाइनल 17 मार्च को कोलकाता में खेला जाएगा.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi