S M L

आईएसएल 2018-19 : नार्थईस्ट के ओग्बेचे और गालेगो को संभालना दिल्ली के डिफेंस के लिए कड़ी चुनौती

असल लड़ाई से पहले दिल्ली डायनामोज और नार्थईस्ट के बीच शुरू हुआ वाकयुद्ध

Updated On: Oct 29, 2018 06:32 PM IST

FP Staff

0
आईएसएल 2018-19 : नार्थईस्ट के ओग्बेचे और गालेगो को संभालना दिल्ली के डिफेंस के लिए कड़ी चुनौती
Loading...

मेजबान दिल्ली डायनामोज और नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी के बीच मंगलवार को नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का मुकाबला खेला जाना है, लेकिन इस मैच से पहले दोनों टीमों के बीच शब्दयुद्ध शुरू हो गया है. इस वाकयुद्ध की शुरुआत नार्थईस्ट युनाइटेड के कोच एल्को स्काटोरी ने की. उन्होंने मैच पूर्व संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अगर वह दिल्ली के कोच होते तो वह इस टीम को लीग में टॉप-3 में स्थान दिला देते.

दिल्ली की टीम इस समय 10 टीमों की तालिका में आठवें स्थान पर है. उसके खाते में तीन अंक हैं. वह अब तक पांच मैच खेल चुकी है. इस टीम को अब तक जीत नहीं मिली है. ऐसे में स्काटोरी ने दिल्ली के कोच जोसेफ गोम्बाउ पर हमला बोलते हुए कहा कि वह अगर दिल्ली के कोच होते तो उसकी अभी यह स्थिति नहीं होती.

स्काटोरी ने कहा, ‘यह काफी कठिन मैच होने वाला है. दिल्ली की टीम काफी अच्छी है लेकिन अभी इसका जो हाल है, उससे मैं हैरान हूं. मैं तो इतना कह सकता हूं कि अगर मैं मेरे पास यह टीम होती तो मैं इसे टॉप-3 में बनाए रखता. मेरी बात में दंभ झलकता है (मुझे पता है).’

स्काटोरी ने नार्थईस्ट के साथ अब तक काफी अच्छा काम किया है. इस टीम ने चार मैचों से आठ अंक बटोरे हैं. इस टीम को दो जीत मिली है जबकि उसके खाते में दो ड्रॉ हैं. यह टीम अंक तालिका में टॉप पर चल रही एफसी गोवा से ठीक नीचे है. स्काटोरी का यह कमेंट दिल्ली के कोच को पसंद नहीं आया और उन्होंने इस पर त्वरित प्रतिक्रिया दी. गोम्बोउ ने कहा, ‘नार्थईस्ट के कोच को अपनी टीम पर ध्यान देना चाहिए, न कि मेरी टीम पर. उन्हें इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए.’

नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी की अब तक की सफलता का राज यह है कि उसके पास शानदार संयोजन है. स्टार स्ट्राइकर बार्थोलोमेव ओग्बेचे और मिडफील्डर फेडेरिको गालेगो की जोड़ी नार्थईस्ट की इस शानदार शुरुआत की जिम्मेदार है. ओग्बेचे ने अभी तक पांच गोल किए हैं जबकि गालेगो ने लीग में अभी तक तीन असिस्ट करे हैं. इन दोनों को संभालना दिल्ली के डिफेंस के लिए कड़ी चुनौती रहेगा.

रोवलिन बोर्जेस और जोस लियूडो की जोड़ी मिडफील्ड में काफी प्रभावी रही है, लेकिन इनके लिए चिंता का विषय सेंट्रल डिफेंडर मिस्लाव कोर्मोस्की का न होना है जो जमेशदपुर एफसी के खिलाफ मिले रेड कार्ड के कारण टीम में नहीं खेल रहे हैं. दिल्ली का अटैक अभी तक अच्छा खेला है वह कोर्मोस्की की गैरमौजूदगी का फायदा उठाना चाहेगा. हालांकि दिल्ली को भी अपने अटैक को मजबूत करने की जरूरत है.

गोम्बोउ ने कहा, ‘मुंबई में हम हार गए लेकिन हमने गोल पर 20 शॉट लगाए जिसमें से छह टारगेट पर गए. मैच में हमने 19 क्रॉस और 400 पास, 555 टच किए और 58 फीसदी गेंद अपने पास रखी. हर चीज थी लेकिन सबसे अहम बात गोल करना है. हममें आत्मविश्वास की कमी है क्योंकि जब आपके पास मौके होते हैं और आप स्कोर नहीं करते हो तो आत्मविश्वास की कमी के कारण होता है. यह टीम पर भी असर डालता है. मुझे उम्मीद है कि हम मंगलवार को अच्छा खेलेंगे.’ गोम्बोउ नार्थईस्ट पर जीत के अलावा कुछ नहीं चाहते हैं और मंगलवार को उन्हें गलत साबित करना चाहते हैं.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi