S M L

ISL 2018-19: बेंगलुरु एफसी के खिलाफ अपना सम्मान बचाने के लिए खेलेगी केरला ब्लास्टर्स

ISL 2018-19: बेंगलुरु ने 13 मैचों से 30 अंक लेकर प्लेऑफ में जगह बना ली है, लेकिन केरला की टीम 14 मैचों से 10 अंक लेकर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है

Updated On: Feb 06, 2019 10:55 AM IST

FP Staff

0
ISL 2018-19: बेंगलुरु एफसी के खिलाफ अपना सम्मान बचाने के लिए खेलेगी केरला ब्लास्टर्स

इंडियन सुपर लीग (ISL) के पांचवें सीजन में बुधवार को बेंगलुरु श्री कांतिरावा स्टेडियम में केरला ब्लास्टर्स का सामना मेजबान बेंगलुरु एफसी से होगा. दोनों टीमों के बीच की प्रतिस्पर्धा काफी रोचक रही है, लेकिन इस सीजन में केरला के दिन खराब चल रहे हैं और ऐसे में वह बेंगलुरु को उसके ही घर में हराने के लिए प्रेरणा की तलाश में है. मौजूदा सीजन में बेंगलुरु ने 13 मैचों से 30 अंक लेकर प्लेऑफ में जगह बना ली है, लेकिन केरला की टीम 14 मैचों से 10 अंक लेकर प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है.

बेंगलुरु के कोच चार्ल्स कुआडार्ट ने कहा, ‘हम टॉप पर इसलिए हैं क्योंकि हमने इसके लिए काफी मेहनत की है. हमने रिस्क लिए हैं, लेकिन हम हम जानते थे कि हम रिस्क ले रहे हैं. इसका नतीजा यह हुआ कि आज हम तालिका में टॉप पर हैं.’

बेंगलुरु की टीम मीकू की वापसी से मजबूत हुई है और साथ ही साथ नए खिलाड़ी विंगर-मिडफील्डर लुइसमा विला भी उसे मजबूती प्रदान करेंगे. बेंगलुरु को हालांकि इस बात की चिंता सता रही होगी कि उसके कप्तान सुनील छेत्री लंबे समय से गोल नहीं कर सके हैं. 600 से अधिक मिनट मैदान पर बिताने के बाद भी छेत्री विपक्षी टीम का पोस्ट भेद नहीं सके हैं.

ये भी पढ़ें- ISL 2018-19 : क्या एक बार फिर प्लेऑफ में जगह बनाने से चूक जाएगी नार्थईस्ट!

कुआडार्ट रीनो एंटो की जगह फुल बैक पोजीशन पर हर्मनजोत खाबरा को उतारना चाहेंगे, क्योंकि एंटो नार्थईस्ट के खिलाफ खराब खेले थे. नीशू कुमार ने सीनियर टीम के साथ अभ्यास शुरू कर दिया है, लेकिन उनके केरला के खिलाफ खेलने की संभावना बहुत कम है.

Kerala Blasters FC players during the warmup session before the start of the match 65 of the Hero Indian Super League 2018 ( ISL ) between Delhi Dynamos FC and Kerala Blasters held at Jawaharlal Nehru Stadium, New Delhi, India on the 31st January 2019 Photo by: Deepak Malik /SPORTZPICS for ISL

दूसरी ओर, सीजन के पहले मैच में एटीके को हराने वाली केरला की टीम के लिए आगे का सफर काफी खराब रहा है. दो बार फाइनल खेल चुकी यह टीम अब प्लेऑॅफ की दौड़ से बाहर है और शीतकालीन ब्रेक से पहले उसके कोच डेविड जेम्स भी उसे छोड़ गए थे. अब नीलो विंगाडा उनके स्थान पर आए हैं और दो मैचों में टीम को जीत नहीं दिला सके हैं. उनकी देखरेख में केरल को एक मैच में हार मिली है और एक मैच ड्रॉ रहा है.

केरल की टीम इस सीजन में मौकों को नहीं भुना पाई है. इस सीजन में उसे 139 मौके मिले लेकिन वह सिर्फ 13 को गोल में बदल सकी है. इस टीम ने डिफेंस में भी काफी खराब प्रदर्शन किया है. इस टीम के डिफेंडरों ने कुल 23 गोल खाए हैं. अब जबकि उसके सामने बेंगलुरु जैसी मजबूत टीम है और वह भी अपने घर में खेल रही होगी तो उसे हराने के लिए केरल के खिलाड़ियों को एक इकाई में खेलते हुए अपना बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा.

ये भी पढ़ें- New Zealand vs India Women, 1st T20I : वनडे की तरह टी-20 सीरीज भी अपने नाम करना चाहेगी भारतीय टीम

इस अहम मैच से पहले कोच विंगाडा ने कहा, ‘मैं हमेशा अगले मैच पर ध्यान देता हूं. अगला मैच हमेशा से बेहद अहम होता है. अतीत बीच चुका. मुझे जरूरत है कि क्या गलत है देख सकूं और अगले मैच में सुधार कर सकूं. मुझे उम्मीद है कि हम एक-दो स्थान ऊपर जाएंगे. हमें अब आत्मविश्वास हासिल करने की जरूरत है. इन खिलाड़ियों के साथ हमें बेहतर प्रदर्शन करने की जरूरत है, इसलिए देखना होगा कि क्या गलत है और खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ निकालने की जरूरत है.’ केरला अपना सम्मान बचाने के लिए खेलेगी लेकिन विपक्षी टीम से बेहतर करना उसके लिए प्रेरणा हो सकती है. वहीं बेंगलुरु अंकतालिका में अपने दबदबे को बरकरार रखना चाहेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi