S M L

FIFA World Cup, Russia vs Spain : रूस ने किया स्पेन को शूटआउट, मेजबान ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

रूस की इस जीत के नायक निश्चित तौर पर उसके गोलकीपर इगोर अकीनफीव रहे जिन्होंने पेनल्टी शूट आउट में दो बचाव किए

Updated On: Jul 02, 2018 01:33 AM IST

FP Staff

0
FIFA World Cup, Russia vs Spain : रूस ने किया स्पेन को शूटआउट, मेजबान ने क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई

रूस ने फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण में स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 (1-1) से हराकर रविवार को टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया. नियमित और अतिरिक्त समय तक मैच 1-1 से बराबरी पर था. रूस ने 48 साल बाद क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है. 2018 का ये संस्करण दिग्गज टीमों के लिए अच्छा साबित नहीं हो रहा है. रूस ने भी अपने से मजबूत टीम स्पेन को बाहर का रास्ता दिखा दिया. इससे पहले शनिवार को अर्जेंटीना और पुर्तगाल बाहर हो गए थे. जबकि पिछला चैंपियन जर्मनी ग्रुप दौर से ही आगे नहीं निकल सका.

रूस की इस जीत के नायक निश्चित तौर पर उसके गोलकीपर इगोर अकीनफीव रहे जिन्होंने मैच के दौरान कई शानदार बचाव किए और फिर पेनल्टी शूट आउट में भी दो बचाव करके लुजनिकी स्टेडियम में जश्न में डुबो दिया.

स्पेन ने नियमित और अतिरिक्त समय में गेंद को 79 प्रतिशत समय तक अपने कब्जे में रखा, लेकिन वह रूसी रक्षापंक्ति विशेषकर गोलकीपर अकीनफीव को भेदने में नाकाम रहे. उसने 11वें मिनट में सर्गेई इग्नाशेविच के आत्मघाती गोल से बढ़त बनाई. रूस को 41वें मिनट में पेनल्टी मिली जिस पर आर्टम दजयुबा ने बराबरी का गोल किया.

आखिर में विजेता का फैसला पेनल्टी शूटआउट से हुआ. रूस के लिए फेडोर समोलोव, इग्नाशेविच, अलेक्सांद्र गोलोविन और डेनिस चेरीशेव गोल करने में सफल रहे. स्पेन की तरफ से आंद्रेई इनिएस्टा, गेरार्ड पीके और सर्गियो रामोस ने गोल किए, लेकिन कोके और इयगो अस्पस दोनों के शॉट अकीनफीव ने बड़ी खूबसूरती से रोक दिए. रूस (सोवियत संघ) ने इससे पहले 1970 में अंतिम आठ में जगह बनाई थी. वह अब क्वार्टर फाइनल में सात जुलाई को क्रोएशिया और डेनमार्क के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेगा.

मैच की महत्वपूर्ण बातें

लीग चरण में अजेय रहे स्पेन ने रूस के खिलाफ सतर्क शुरुआत की. शुरू में लग रहा था कि दोनों टीमें एक दूसरे को परखने की कोशिश कर रही हैं लेकिन 11वें मिनट में इग्नाशेविच के आत्मघाती गोल से रूस बैकफुट पर चला गया.  यूरी झिरिकोव ने रूसी गोल के बायीं तरफ नाचो को गिरा दिया जिसके कारण स्पेन को फ्री किक मिली. इस्को की फ्री किक ने रूसी डिफेंडर इग्नाशेविच को परेशानी में डाल दिया. उन्होंने गोल बचाने के लिए सर्गियो रामोस को भी नीचे गिरा दिया, लेकिन गेंद उनकी एड़ी से लगकर गोल में समा गई. रूसी गोलकीपर इगोर अकीनफीव के पास उसे रोकने का कोई मौका नहीं था.

स्पेन के कप्तान को लगा कि गोल उन्होंने किया है. वह जश्न भी मनाने लगे लेकिन जल्द ही साफ हो गया कि गेंद रामोस नहीं बल्कि इग्नाशेविच के पांव से लगकर गई है. इस गोल से इग्नासेविच (38 साल. 252 दिन) विश्व कप में सबसे अधिक उम्र में आत्मघाती गोल करने वाली खिलाड़ी भी बन गए. इससे पहले रिकॉर्ड हांडुरास के नियोल वालाडर्स (37 साल, 43 दिन) के नाम पर था जिन्होंने फ्रांस के खिलाफ 2014 में यह गोल किया था.

रूस ने इसके बाद दबाव भी बनाया. खेल के 26वें मिनट में इग्नाशेविच ने गलती की भरपाई करने की अच्छी कोशिश की. उन्होंने गोलोविन को अच्छा पास दिया जो उसे अच्छी तरह से नहीं संभाल पाए और रूस ने मौका गंवा दिया. गोलोविन के पास 36वें मिनट में भी मौका था, लेकिन दो रक्षकों को छकाने के प्रयास में उनका शॉट गोल पोस्ट के करीब से बाहर चला गया.

इसके बाद हालांकि जल्द ही रूस ने बराबरी कर दी. कॉर्नर किक पर आर्टम दजयुबा का हेडर गेर्राड पीके के हाथ से टकरा गया जिससे रूस को पेनल्टी मिली. स्पेन ने इसका विरोध किया, लेकिन रेफरी टस से मस नहीं हुए. दजयुबा ने इसे आसानी से गोल में बदलकर लुजनिकी स्टेडियम में नई जान भर दी. मध्यांतर तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर थीं.

स्पेन की टीम अकीनफीव को पहले हाफ में ज्यादा परेशान नहीं कर पाई. दूसरे हाफ में 59वें मिनट में डिएगो कोस्टा ने इस्को के साथ मिलकर मूव बनाया, लेकिन पूरी रूसी टीम गोल बचाने के लिए आ गई. इसके बाद 74वें मिनट में भी रूस ने गोल बचाने की अपनी काबिलियत का अच्छा परिचय दिया जब इस्को के शॉट को फेडोर कुद्रयासोव ने बचाया.

रूस ने चेरीशेव और समोलोव को दूसरे हाफ में उतारा. इन दोनों के अलावा गोलोविन ने जवाबी हमले पर निगाहें टिकी थी. दूसरी तरफ कोस्टा की जगह आंद्रेस इनिएस्टा मैदान पर उतर चुके थे. उन्होंने लगातार हमले किए. इनिएस्टा ने 85वें मिनट में गोल की तरफ करारा शॉट भी जमाया, लेकिन अकीनफीव ने बड़ी खूबसूरती से इसका बचाव कर दिया.

दूसरे हाफ में कोई भी गोल नहीं कर पायी और मैच अतिरिक्त समय तक खिंच गया जिसमें स्पेन की टीम अधिक संयोजित और प्रतिबद्ध दिखी. नियमित खेल की तरह अतिरिक्त समय में भी गेंद रूसी पाले में ही मंडराती रही जिसके खिलाड़ियों ने फिर से अपनी ताकत गोल बचाने पर लगाई.

अकीनफीव ने 109वें मिनट में फिर से बेहतरीन बचाव करके रूसी समर्थकों को राहत पहुंचाई. उन्होंने रोड्रिगो का शॉट गोल में जाने से बचाया. रिबाउंड पर गेंद दानी कार्वाजल के पास पहुंची, लेकिन इलिया कुतेपोव ने उनका शॉट रोक दिया.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi