S M L

FIFA World Cup 2018: कहीं कोच की शिकायत तो कहीं फुटबॉल की, पांचवें दिन छाई रहीं ये खबरें

फीफा वर्ल्ड के पांचवें दिन विवाद की आहट के साथ शुरू हुआ और इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन के शानदार खेल के साथ खत्म

AFP Updated On: Jun 19, 2018 12:25 PM IST

0
FIFA World Cup 2018: कहीं कोच की शिकायत तो कहीं फुटबॉल की, पांचवें दिन छाई रहीं ये खबरें

फीफा वर्ल्ड के पांचवें दिन विवाद की आहट के साथ शुरू हुआ और इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन के शानदार खेल के साथ खत्म. पूरे दिन ये खबरें छाईं रहीं.

वर्ल्ड कप में शुरू हुआ 'हरी-कैन'

इंग्लैंड के हैरी केन ने सोमवार को अपने पहले मैच में देश को निराश नहीं किया. अपने पहले मैच में केन ने दो गोल लगाए जिसकी बदौलत इंग्लैंड ने ट्यूनीशिया को 2-1 से मात दी. साल 2006 के बाद पहली बार इंग्लैंड को अपने ओपनिंग मैच में जात हासिल हुई है. हैरी केन का रिकॉर्ड है कि जब भी उन्होंने इंग्लैंड की कप्तानी की है, गोल जरूर किया है. ये सिलसिला बना रहा.हैरी केन को गोल्डन बूट का दावेदार माना जा रहा है. पुर्तगाल और स्पेन के मैच में रोनाल्डो ने हैट्रिक लगाई जिसके बाद से उनके ऊपर दबाव बढ़ गया था. इंग्लैंड ने 11 वें मिनट में ही केन के गोल की मदद से बढत बना ली थी. इंजुरी टाइम में हैरी केन ने कॉर्नर किक पर शानदार हेडर लगाते हुए इंग्लैंड को चमत्कारिक जीत दिलाई.

3-0 की जीत से संतुष्ट नहीं है बेल्डियम का कोच

बेल्जियम ने वर्ल्ड कप के अपने पहले मैच में पनामा को 3-0 से मात दी. बेल्डियम के कोच रॉबर्टो हालांकि इस जीत से संतुष्ट नहीं है. पनामा पहली बार वर्ल्ड कप में खेल रही है इस कारण कोच को बड़ी जीत की उम्मीद थी. कोच का मानना है कि बेल्जियम अपने पूरे दमखम के साथ नहीं खेली और टीम के पास साबित करने के लिए अभी भी बुहत कुछ है.

बेल्डियम के कोच रॉर्बोटो

बेल्डियम के कोच रॉर्बोटो

इडन हजार्ड, केविन डी ब्रॉयन, ड्राइस मार्रटेंस के होते हुए भी टीम पहले हाफ में पनामा के डिफेंस को तोड़ने में संघर्ष करती दिख रही थी औऱ यही कोच की चिंता है कि ये कमी बेहतर विरोधी के सामने उनपर भारी पड़ सकती है.

फीफा की फुटबॉल पर शुरू हुआ विवाद

इस वर्ल्ड कप में एक बार फिर फुटबॉल को लेकर विवाद शुरू हो गया है. सोमवार को इजिप्ट के गोलकीपर एस्साम एल हदरी ने टूर्नामेंट में इस्तमाल की जाने वाली एडीडास की बॉल 'टेलस्टार 18'  पर सवाल खड़े किए. उनका कहना था कि गेंद काफी भारी है जो कि स्ट्राइकर के पक्ष में जाता है.

इजिप्ट के गोलकीपर हदरी

इजिप्ट के गोलकीपर हदरी

उनसे पहले फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया के गोलकीपर भी इस बात पर शिकयात दर्ज कर चुके हैं. हदरी ने कहा ‘हम फीफा और इस नई गेंद के शिकार हो रहे हैं. हर चार साल में बॉल बदल दी जाती है. नई बॉल के साथ खिलाड़ियों को ज्यादा परेशानी नहीं होती लेकिन गोलकीपर के लिए बड़ी मुश्किल बन जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi